नई दिल्ली। भारत समेत दुनियाभर में नए साल 2023 की शुरूआत हो चुकी है। लोगों ने धूम-धाम से नए साल का स्वागत किया। दिल्ली के इंडिया गेट, उत्तराखंड के मसूरी तो हिमाचल प्रदेश के मनाली समेत हर शहर के प्रमुख पयर्टक स्थलों पर लोगों का हुजूम एकत्रित हुआ और साल 2022 को विदाई दी। इस बीच कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए आज यानी 1 जनवरी से भारत में आने वाले विदेशी यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर की ‘निगेटिव’ रिपोर्ट अनिवार्य होगी।

कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने चीन, सिंगापुर, हांगकांग, साउथ कोरिया, थाईलैंड और जापान से आने वाले यात्रियों के लिए अब आरटी-पीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट जरूरी कर दी है। उड्डयन मंत्रालय की ओर से जारी निर्देश के मुताबिक अब विदेश से आने वाले यात्रियों को यात्रा से 72 घंटे पहले जारी की गई आरटी-पीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट देनी होगी।

Also Read – मध्यप्रदेश सरकार ने करदाताओं को कई सुविधाएं कराई मुहैया, 5 राज्यों में रहा प्रथम

चीन समेत इन 6 देशों से आने वाले विमान यात्रियों को आज से आरटी-पीसीआर की ‘निगेटिव’ रिपोर्ट एंट्री नहीं मिलेगी। यह निर्णय दुनिया के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लिया गया है। इन पैसेंजर्स को यात्रा से पहले अपनी 72 घंटे पुरानी निगेटिव RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट एयर सुविधा पोर्टल पर अपलोड करनी होगी।

स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक अगले 40 दिन कोरोना संक्रमण के लिहाज से काफी गंभीर हो सकते हैं. कोरोना के पिछले ट्रेंड्स को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि इस बार भी जनवरी कहीं भारी ना पड़ जाए। सबसे बड़ा खतरा दूसरे देशों से आने वाले यात्रियों से है। इसको ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने कुछ सख्त कदम भी उठाए हैं।

यदि कोरोना के मामलों की बात की जाए तो देश में 31 दिसंबर को कोरोना से एक दिन में 226 लोग पॉजिटिव पाए ग। इसी के साथ ही देश में अब कुल एक्टिव केसों की संख्या 3653 हो गई है। हालांकि इस वायरस से किसी की भी जान नहीं गई। वहीं 179 ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो गए। इसके अलावा देश में मौजूदा रिकवरी रेट 98.8 फीसदी है और दैनिक संक्रमण दर .12 फीसदी है।