उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रावत नहीं लड़ेंगे चुनाव

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस बार का विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने यह कहा है कि उनकी मंशा चुनाव प्रचार करने की है तथा वे भाजपा के उम्मीदवारों के समर्थन में पूरी तरह से प्रचार करेंगे लेकिन चुनाव नहीं लड़ेंगे।

नई दिल्ली। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस बार का विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने यह कहा है कि उनकी मंशा चुनाव प्रचार करने की है तथा वे भाजपा के उम्मीदवारों के समर्थन में पूरी तरह से प्रचार करेंगे लेकिन चुनाव नहीं लड़ेंगे। रावत ने अपनी इस मंशा से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर अवगत करा दिया है।

राज्य की राजनीति में परिवर्तन
रावत ने अपने लिखे पत्र में यह कहा है कि उत्तराखंड की राजनीति में परिवर्तन आया है और मौजूदा मुख्यमंत्री पुष्कर धामी जैसे राजनेता का युवा नेतृत्व भी राज्य को मिला है इसलिए वह इस बार का विधानसभा चुनाव लड़ना नहीं चाहते है।

Also Read – लालू के दामाद सपा से आजमा रहे किस्मत

अनुरोध को स्वीकार करें
रावत ने उत्तराखंड में दोबारा भाजपा सरकार बनाने के लिए कार्य करने की बात कहते हुए नड्डा को पत्र में लिखा, वर्तमान में उत्तराखंड राज्य में चुनाव हो रहा है। धामी के नेतृत्व में पुन: सरकार बने उसके लिए पूरा समय लगाना चाहता हूं। अत: आपसे अनुरोध है कि मेरे चुनाव न लड़ने के अनुरोध को स्वीकार करें ताकि मैं अपने संपूर्ण प्रयास सरकार बनाने के लिए लगा सकूं।