पूर्व मंत्री गोविंद सिंह ने साधा भाजपा पर निशाना, बोले-मध्यप्रदेश में अघोषित आपातकाल लगाया

भोपाल: कांग्रेस के पूर्व मंत्री व वर्तमान विधायक गोविंद सिंह ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार द्वारा मध्यप्रदेश में अघोषित आपातकाल लागू कर दिया गया है। जो लोग भाजपा से राजनीतिक मतभिन्नता रखते है उनकी संपत्ति बिना नियमो के ही तोड़ दी जा रही है।

राजस्व अधिनियम में उल्लेख है कि 1955 के बाद जो भवन या हेरिटेज के पास स्थित मकान है उनको तोड़ने का अधिकार शासन को नहीं होगा केवल उसमें मरम्मत की जा सकती है।

इसी के साथ उन्होंने बताया कि बने हुए तीन-तीन मंजिल मकान भी तोड़े जा रहे हैं।उन्होंने बताया कि पिछली 26 फरवरी को दतिया जिले में स्टेट टाइम का लोकेंद्र सिंह हेरीटेज क्लब जो स्टेट टाइम को 1944 से दिया है।

उस क्लब के अध्यक्ष घनश्याम सिंह निर्वाचित हुए थे। इसलिए राजनीतिक दुर्भावना से वहां के स्थानीय मंत्री घनश्याम सिंह को नीचा दिखाने के लिए नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए उस को धराशाई कर दिया है। उसी में एक विश्व प्रसिद्ध टेबल भी रखी थी। लंदन के एक प्लेयर 8 वर्ष पहले दतिया आए थे उन्होंने उस टेबल को जाकर देखा व घनश्याम से बात करते हुए कहा कि इसको हम 5 करोड़ रुपए में लेना चाहते हैं, लेकिन इन्होंने कहा कि यह हेरिटेज है इसको हम सहेज कर रखेंगे ताकि बाहर के लोग आकर इसको देखें। क्लब में नगर पालिका से भी मंजूरी दी गई है तथा उसका टैक्स भी दिया जा रहा है। लेकिन फिर भी उसको धराशाई कर दिया।

पूर्व मंत्री गोविंद सिंह ने कहा कि इसी प्रकार भोपाल में कर्फ्यू लगा कर व बड़वानी, भिंड, इंदौर, उज्जैन तथा समूचे प्रदेश में जहां भी राजनीतिक विचारधारा के व्यक्ति हैं। उन पर छापे लगाना, गिरफ्तार करना व उनकी संपत्तियों को बर्बाद करके सड़क पर लाने लायक छोड़ा जा रहा है।

गोविंद सिंह ने कहा कि इसके लिए हमने आज विधानसभा में ध्यानाकर्षण रखा था। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि स्थगन लाइए।

हम अध्यक्ष जी से परमिशन लेकर स्थगन प्रस्ताव प्रस्तुत करेंगे। इस प्रकार की तानाशाही को रोकने का काम कांग्रेस पार्टी करेगी तथा इस अन्याय के खिलाफ हमें जेल भी जाना पड़े तो हम जाएंगे।