पहली बार व्यास पीठ से पं. प्रदीप मिश्रा ने भक्तों को दिया होमवर्क, कहा- घर-घर इस चित्रित को…

श्री शिव महापुराण (Shiva Mahapuran) का मूलमंत्र है श्री शिवाय नमस्तुभ्यं। इस मन्त्र के केवल जाप करने से ही जीवन की दिक्कत ख़त्म होने लग जाती है।

pandit pradeep mishra

श्री शिव महापुराण (Shiva Mahapuran) का मूलमंत्र है श्री शिवाय नमस्तुभ्यं। इस मन्त्र के केवल जाप करने से ही जीवन की दिक्कत ख़त्म होने लग जाती है। दरअसल, मृत्यु के बाद किसे द्वारग मिलेगा और किसे नर्ग इस बात का तो अभी पता नहीं लगाया जा सकता है लेकिन शिव महापुराण की कथा का श्रवण करने से दोबारा जन्म जरूर मिलता है। ये बात खुद पंडित प्रदीप जी मिश्रा (Pandit Pradeep Ji Mishra) द्वारा कही गई है। इतना ही नहीं उन्होंने बेटी के चित्रित को लेकर भी बात कही है।

आपको बता दे, उन्होंने सात दिवसीय शिव के 11 अवतार रुद्र मंदिर के निमित शिवपुराण कथा में बहन और बेटियों से अपील करते हुए ये बात भी कही है कि ऐसा काम मत करना जिस से पिता को नरक जाना पड़े। साथ ही उन्होंने अपनी कथा के चलते ये भी कहा है कि इस वीडियो का क्लिप निकल कर ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि हर कोई बेटी किसी गलत लड़के के चक्कर में ना पड़ जाए जिससे उसके पिता को नर्ग में जाना पड़े।

Must Read : शिवपुराण कथा समापन में रिकॉर्ड 3 लाख से अधिक भक्त रहे मौजूद, अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी ने किया ये वादा

पंडित जी ने पहली बार व्यास पीठ से सभी भक्तों को एक होमवर्क दिया है। उन्होंने कहा है कि ये वीडियो क्लिप हर घर के सदस्य को दिखाना जिससे कोई भी लड़की गलत लड़के के चक्कर में न फंसे साथ ही अपने पिता की छवि बचा ले और उन्हें नर्ग में जाने से बचा ले। पुरे विश्व में ये होमवर्क जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि घर घर ये चरित्र जाना चाहिए जिससे किसी भी बेटी जा जीवन ख़राब न हो और पिता का जीवन नाश ना हो।

गौरतलब है कि सात दिवसीय शिव के 11 अवतार रुद्र मंदिर के निमित शिवपुराण कथा का आयोजन देपालपुर में किया गया था। जिसका समापन बीते दिन मंगलवार के दिन हुआ। ऐसे में इस दिन करीब 3 लाख से ज्यादा भक्तों ने शिवपुराण कथा समापन का आनंद लिया।