पहली बार हर उद्योगपति को कहा कि आपकी समस्या हल हो जाएगी, मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव से मिले सारे प्रतिनिधि

0
63

इंदौर : राजेश राठौर
मैग्निफिसेंट एमपी में आए उद्योगपतियों से मुख्यमंत्री कमलनाथ और मुख्य सचिव सुधिरंजन मोहंती सबसे मिले। उनकी समस्या हल करने के लिए तत्काल आदेश भी करते गए, जिसके कारण सारे प्रतिनिधि खुश थे।
कल आए लगभग नौ सौ उद्योगपति और उनके प्रतिनिधियों से मिलकर अफसरों ने तत्काल समस्याएं हल करने पर ध्यान दिया। जो मामले मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव स्तर के थे, उनको तत्काल निपटाते गए। कुछ के डिमांड लेटर पर तो हाथोंहाथ संबंधित अधिकारी को टीप लिखकर दे दी। बाकी मामले प्रमुख सचिव राजेश राजौरा के स्तर पर निपटाना शुरू किया। उद्योगपतियों ने रीयल इस्टेट पॉलिसी को देखकर निवेश करने की बात कही।

स्कील डेवलपमेंट को लेकर कई इंडस्ट्रियों ने सरकार का साथ देने की बात कही। उसके अलावा जिस तरीके से मुख्यमंत्री ने सबकी समस्या और उससे संबंधित अधिकारी को तत्काल बुलाकर आदेश दिए, वो चौंकाने वाली बात रही। लेबर एक्ट को और अधिक आसान करने के लिए भी कमलनाथ ने कल आदेश जारी किए हैं। खुद उद्योगपति कह रहे थे कि अब हम अपनी कंपनी का काम प्रदेश में कभी भी शुरू कर सकते हैं। कमलनाथ ने इसके अलावा उद्योगपतियों को समय भी काफी दिया। जब अलग-अलग सत्रों में उद्योगपति बात कर रहे थे, तब भी कमलनाथ वीआईपी रूम में जो भी मिलना चाह रहा था उन सबसे लगातार मिलते गए। ऐसा एक भी उद्योगपति नहीं होगा, जो कमलनाथ और मुख्य सचिव मिलना चाहता हो और नहीं मिला हो।

मुख्य सचिव मोहंती और प्रमुख सचिव राजेश राजौरा ने लंच के समय खाने के लिए भी सबकी खातिरदारी की। उसके बाद रात को सांस्कृतिक कार्यक्रम के बाद जो छोटी इंडस्ट्री वाले मोहंती से मिलना चाहते थे, उन सबसे बात हुई। मोहंती ने अधिकांश को अपना प्रपोजल भेजने के लिए कहा। इसके अलावा भोपाल आकर भी मिलने की बात कही। मुख्यमंत्री कमलनाथ मैरिएट होटल में भी सिर्फ उद्योगपतियों से ही लगातार मिलते रहे। अब हर हफ्ते भोपाल में इस बात की समीक्षा होगी कि जिनको काम शुरू करना था, उनको कोई दिक्कत तो नहीं है। इसके अलावा सरकार हर महीने अधिकृत घोषणा भी करेगी कि कितने उद्योग लग गए हैं और कितने लोगों को रोजगार मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here