Indore News :बिपिन रावत के साथ शहीद हुए नायक जितेन्द्र कुमार के परिजनों का सम्मान 25 को किया जाएगा

प्रतिदिन विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि रीगल चौराहे पर स्थापित इंडिया गेट एवं अमर जवान ज्योति की प्रतिकृति पर पुष्पांजलि समर्पित करने के लिए आ रहे हैं।

इंदौर(Indore News): संस्था सेवा सुरभि, जिला प्रशासन, इंदौर पुलिस एवं नगर निगम के संयुक्त तत्वावधान में चल रहे ‘झंडा ऊंचा रहे हमारा’ अभियान में शहर के आम नागरिकों एवं धार्मिक, सामाजिक एवं शैक्षणिक संगठनों का उत्साह दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। प्रतिदिन विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि रीगल चौराहे पर स्थापित इंडिया गेट एवं अमर जवान ज्योति की प्रतिकृति पर पुष्पांजलि समर्पित करने के लिए आ रहे हैं। अभियान के अंतर्गत मंगलवार 25 जनवरी को सायं 7 बजे दुआ सभागृह में भारतीय सेना के जाबांज शहीद जितेन्द्र कुमार के परिजनों का सम्मान समारोह आयोजित होगा।

अभियान की प्रवृर्तक संस्था सेवा सुरभि के संयोजक ओमप्रकाश नरेड़ा, अवतारसिंह सैनी एवं मुकुंद कारिया ने बताया कि रीगल चौराहे पर स्थापित इंडिया गेट की प्रतिकृति पर 19 जनवरी को सुबह 8.30 से 10.30 बजे के बीच ग्लोबल फोरम फॉर इंड्रस्ट्रियल डेवलपमेंट, जैन श्वेताम्बर सोशल ग्रुप अर्हम, रोटरी क्लब अन्नपूर्णा के प्रतिनिधि आकर पुष्पांजलि समर्पित करेंगे। इसी तरह 20 जनवरी को थेलेसीमिया एंड चाइल्ड वेलफेयर ग्रुप के सदस्य और 22 जनवरी को इंदौर डेफ बायलिंगुवल एकेडमी, मूक-बधिर संगठन स्कीम 71 के प्रतिनिधि भी अनाम शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे।

यह भी पढ़े – आज है माघ कृष्ण पक्ष चतुर्थी/पंचमी तिथि, रखें इन बातों का ध्यान

शहर के अन्य धार्मिक, सामाजिक संगठन भी प्रतिदिन सुबह यहां आकर पुष्पांजलि समर्पित कर रहे हैं। सुबह का यह समय यातायात की दृष्टि से कम दबाव वाला होने के कारण पुष्पांजलि समर्पण के लिए निर्धारित किया गया है। संस्थाओं से आग्रह किया गया है कि वे यातायात व्यवस्था में बाधा पहुंचाए बिना, कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए इंडिया गेट पर आएं। शहीद के परिजनों का सम्मान 25 को – झंडा ऊंचा रहे हमारा अभियान के अंतर्गत मंगलवार 25 जनवरी को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर दुआ सभागृह में सायं 7 बजे भारतीय सेना के जाबांज शहीद जितेन्द्र कुमार के परिजनों का सम्मान किया जाएगा।

शहीद के परिजनों को 1 लाख रुपए की श्रद्धानिधि भी भेंट की जाएगी। संस्था के अनिल मंगल, मोहन अग्रवाल एवं मनीष ठक्कर ने बताया कि शहीद सैनिक जितेन्द्र कुमार सीहोर जिले के ग्राम धामंदा के निवासी थे। उनका जन्म 1 जनवरी 1990 को हुआ और मात्र 21 वर्ष की आयु में 16 मार्च 2011 को सेना में भर्ती हो गए थे। आर्टिलरी रेजीमेंट में उन्होंने एयर डिफेंस की ट्रेनिंग पूरी की। जितेन्द्र कुमार शारीरिक रूप से बहुत सुदृढ़ तो थे ही, फायरिंग में 400 मीटर की दूरी तक किसी भी दुश्मन को हेड शॉट अर्थात सिर में गोली मारने में भी अदभुत क्षमता रखते थे। नायक जितेंद्र कुमार एक बहादुर फौजी होने के साथ बेहतरीन स्नाइपर भी थे।

वे अपने यूनिट में सबसे बेहतरीन स्नाइपर में से एक थे। उन्होंने नियंत्रण रेखा पर कई सफल अभियानों को अंजाम दिया था। उनकी इन्हीं काबीलियत के कारण उन्हें सीडीएस जनरल बिपिन रावत रावत का पीएसओ अर्थात पर्सनल सिक्यूरिटी ऑफिसर के रूप में पदस्थ किया गया था। नायक जितेन्द्र कुमार ने सेना में रहते हुए आर्मी कोर्स की चार परीक्षाएं 80 प्रतिशत प्रावीण्यता के साथ उत्तीर्ण की। गत 8 दिसम्बर 2021 को वे सीडीएस बिपिन रावत एवं अन्य 12 सैन्य अधिकारियों के साथ हेलिकॉप्टर दुर्घटना में तमिलनाडु के कुन्नूर जिले में अपनी ड्यूटी पर रहते हुए शहीद हो गए। संस्था सेवा सुरभि ने उनके परिजनों को 25 जनवरी को इंदौर आमंत्रित किया है।

दुआ सभागृह में उनके सम्मान के बाद सभी अतिथि रीगल चौराहे पर स्थापित इंडिया गेट एवं अमर जवान ज्योति की प्रतिकृति पर आकर एक-एक मोमबत्ती देश के अनाम शहीदों के नाम लगाकर अपनी भावांजलि-दीपांजलि समर्पित करेंगे। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर संस्था की ओर से यह आयोजन पिछले 20 वर्षों से किया जा रहा है। इस आयोजन में सांसद शंकर लालवानी एवं राज्य सरकार के मंत्री, कलेक्टर मनीषसिंह, पुलिस आयुक्त हरिनारायणचारी मिश्रा एवं अन्य गणमान्य नागरिक भी अतिथि के रूप में आमंत्रित किए गए हैं