91 हजार करोड़ के मनी लाॅन्ड्रिंग मामले में राज ठाकरे पर लटकी ईडी की तलवार

91 हजार करोड़ रुपए से अधिक के आईएलएंडएफएस मामले में दोनो को ईडी ने तलब किया हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ईडी राज ठाकरे को गुरुवार के दिन जांच के लिए बुला सकती हैं।

0
125
raj thakre-min

मुंबई: मनी लाॅन्ड्रिंग के एक मामले में प्रवर्तन निर्देशालय के निशाने पर महाराष्ट्र नवनिर्माण प्रमुख राज ठाकरे और पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी के बेटे अनमेश जोशी निशाने पर हैं। 91 हजार करोड़ रुपए से अधिक के आईएलएंडएफएस मामले में दोनो को ईडी ने तलब किया हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ईडी राज ठाकरे को गुरुवार के दिन जांच के लिए बुला सकती हैं।

इस मामले पर महाराष्ट्र के नवनिर्माण सेना के नेता संदीप देशपांडे ने भाजपा को घेरते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी हैं जिसमें उनका कहना हैं कि पिछले 5-6 सालों में भाजपा के किसी भी बड़े नेता के खिलाफ ईडी ने कोई भी जांच नहीं की हैं। ‘हम इस हिटलरशाही के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेंगे’।

बता दें कि दादर के कोहिनूर स्क्वाॅयर टाॅवरों का निर्माण करने वाली कोहिनूर सीटीएनएल में आईएलएंडएफएस समूह द्वारा करीब 860 करोड़ रुपए ऋण और इक्विटी निवेश की जांच ईडी कर रही हैं।

उपरोकत मामले में ईडी ने मुंबई की विशेष अदालत में पहला आरोप पत्र दाखिल कर दिया हैं। जिसके तहत शनिवार को ईडी के अधिकारियों ने बताया कि धनशोधन रोधी कानून को ध्यान में रखते हुए आरोप पत्र दाखिल किया गया। इस मसले में ईडी 570 करोड़ रुपए की संपत्ति अटैच कर चुका हैं। जिसके चलते इस मामले में एक और आरोप पत्र दाखिल किया जा सकता हैं।

पहले आरोप पत्र के अनुसार ईडी ने मौजूदा वित्तीय हालत के लिए कंपनी के निर्देशकों और अन्य बड़े अधिकारियों को अपने भ्रष्ट आचरण के चलते जिम्मेदार ठहराया हैं। ईडी ने आरोपी अधिकारियों की संपत्ति को अटैच करने का अंतरिम आदेश भी दिया हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here