Homeदेशनगर निगम के दोहरे रवैया से परेशान सब्जी विक्रेता अपनी नीति स्पष्ट...

नगर निगम के दोहरे रवैया से परेशान सब्जी विक्रेता अपनी नीति स्पष्ट करें: गोपीकृष्ण नेमा

पूर्व विधायक गोपीकृष्ण नेमा ने राजमोहल्ला सब्जी मंडी के सब्जी विक्रेताओं पर निगम द्वारा अपनाए जा रहे तानाशाही पूर्ण दोहरी रवैया की निंदा की है और मांग की है की निगम इस कार्रवाई के औचित्य को जनता के बीच स्पष्ट करें और पूरे शहर को सब्जी मंडी बनने से बचाए आज शहर में विभिन्न स्थानों पर अघोषित रूप से सब्जी मंडियां बन गई है उदाहरण के लिए जिलाधीश कार्यालय के सामने जीडी सी कॉलेज दशहरा मैदान रोड महावीर बाग के सामने एरोड्रम रोड धार रोड आदि स्थानों पर अवैध रूप से सामूहिक सब्जी विक्रय केंद्र बने हुए हैं जो प्रमुख मार्गो पर यातायात में बाधा भी उत्पन्न करते हैं

ALSO READ: BJP पर बरसे कमलनाथ, बोले- मामा की सरकार ने आदिवासियों का भविष्य बर्बाद किया

जिस ओर निगम का कोई ध्यान नहीं है इनको कहीं व्यवस्थित कर रोजगार का अवसर दें इसके विपरीत राजमोहल्ला क्षेत्र में स्वयं निगम द्वारा घोषित स्थान पर सब्जी विक्रय कर रहे विक्रेताओं को पुलिस और निगम कर्मियों द्वारा हटाया जाना सोचनीय है और निगम के दोहरे रवैया को स्पष्ट करता है की आप के द्वारा घोषित स्थान पर बैठे हुए को भगाया जा रहा है अनाधिकृत लोगों को संरक्षित किया जा रहा है

प्रधानमंत्री मोदी ने गरीब ठेले वालों को ₹10000 लोन योजना चलाकर कोरोना काल में रोजगार के अवसर भी प्रदान किए इन्हीं गरीबों को रोजगार करने के अवसर देने के बजाय घोषित सब्जी मंडी के स्थान पर रोजगार नहीं करने देना केंद्र सरकार की मंशा के भी विपरीत है नेमा ने संभाग आयुक्त जिला कलेक्टर निगमायुक्त से मांग की है कि निगम द्वारा की जा रही इस कार्यवाही मैं हस्तक्षेप कर गरीबों को रोजगार करने का अवसर दें शहर की सुंदरता समाप्त करने वाले और शहर में अव्यवस्थित सब्जी विक्रय करने वालों पर नियंत्रण कर उन्हें भी स्थान आवंटित कर रोजगार के अवसर दे राजमोहल्ला क्षेत्र को सब्जी मंडी घोषित करने वाला निगम द्वारा लगाया गया बोर्ड भी संलग्न है

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular