काली पोस्टर विवाद के बाद डायरेक्टर लीना का नया ट्वीट वायरल, फिर आई ट्रोलर्स के निशाने पर

काली फिल्म के पोस्टर पर विवाद के बीच डायरेक्टर लीना मणिमेकलई ने एक और ट्वीट किया

काली फिल्म के पोस्टर पर विवाद के बीच डायरेक्टर लीना मणिमेकलई ने एक और ट्वीट किया है।इसपर उनको दोबारा लोग उन्हें बुरा भला कहने लगे है। इस फोटो मे ‘भगवान शिव-मां पार्वती’ को सिगरेट पीते दिखाया जा रहा है जिसको लेकर वो फिर विवादों में घिरी नज़र आ रही है काली पोस्टर विवाद के बाद डायरेक्टर लीना फोटो को ट्वीट करते हुए ने लिखा, ‘कहीं और.’ इसपर ट्विटर यूजर्स उनको घेर रहे है। एक यूजर ने लिखा कि वह सिर्फ नफरत फैला रही है। तो वहीँ दूसरे यूजर ने कहा कि उनको अपने धर्म का अपमान करना बंद करना चाहिए।

लीना मणिमेकलई द्वारा ट्वीट की गई इस फोटो पर राजनेताओं के बयान आना भी शुरू हो गए है. बीजेपी नेता शहजाद पूनावाला ने इसपर बयान दिया है।उन्होंने लिखा कि यह रचनात्मक अभिव्यक्ति की बात नहीं है, यह जानबूझकर उकसावे का मामला है। हिंदुओं को गाली देना = धर्मनिरपेक्षता?
हिंदू आस्था का अपमान = उदारवाद? शहजाद पूनावाला ने आगे कहा कि लीना का हौसला इसलिए बढ़ रहा है क्योंकि उनको पता है कि लेफ्ट पार्टियां, कांग्रेस, TMC उनको सपोर्ट कर रही है। अबतक TMC ने ने महुआ मोइत्रा पर एक्शन नहीं लिया है.

Also Read – संसद मानसून सत्र में, 35 MP पूछेंगे नूपुर शर्मा बयान पर सवाल

फिल्म के पोस्टर पर हुआ था विवाद

ताजा विवाद से पहले की फिल्म काली के पोस्टर पर विवाद हुआ था। उस पोस्टर में मां काली को सिगरेट पीते दिखाया था। विवाद के बाद ट्विटर ने प्रोड्यूसर-डायरेक्टर लीना मणिमेकलई का पोस्ट हटा लिया था।पोस्टर को लेकर जारी विवाद के बीच कई राज्यों में एफआईआर दर्ज हो गई है। दिल्ली में, यूपी में और मुंबई में इस फिल्म के पोस्टर को धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला बताकर एफआईआर दर्ज कराई गई है।

कौन हैं लीना मणिमेकलई?
लीना मणिमेकलई मदुरै के दक्ष‍िण में स्थ‍ित सुदूर गांव महाराजापुरम की रहने वाली हैं. उनके पिता कॉलेज लेक्चरर थे। वो एक किसान पर‍िवार से थीं और उनके गांव की प्रथा के मुताब‍िक प्यूबर्टी के कुछ साल बाद लड़क‍ियों की शादी उनके मामा से करवा दी जाती थी। जब लीना को पता चला क‍ि घरवाले उनकी शादी की तैयारी तैयारी कर रहे हैं तब वह चेन्नई भाग गईं. इसके बाद उन्होंने इंजीनियरिंग की. उन्होंने आईटी सेक्टर में नौकरी भी की। उन्होंने कई नौकरियां करने के बाद फिल्म बाद फिल्म बनाने के क्षेत्र में आने का फैसला किया।