धार जिले की धर्मपुरी तहसील में कारण मध्यम सिंचाई परियोजना के बांध से मिट्टी लगातार 10 रही है जिससे बांध टूटने का खतरा लगातार बना हुआ है. आज ही यहां यह स्थिति निर्मित हुई है जिसके बाद प्रशासन पूरी तरह सतर्क हो गया है. इस बांध की ऊंचाई 52 मीटर और लंबाई 590 मीटर है. फिलहाल बांध में 15 एमसीएम पानी मौजूद है.

इंदौर आईजी और कमिश्नर सहित धार एसपी और कलेक्टर सहित एनसीआरसी जल संसाधन के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर मौजूद हैं. स्थिति को देखते हुए एहतियात के तौर पर धार जिले के 12 गांव और खरगोन जिले के 6 गांव को खाली करवा कर यहां रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर राहत शिविर में शिफ्ट किया गया है. एनडीआरएफ और एसडीआरएफ धार और इंदौर की टीम के साथ पड़ोस के थाने के पुलिस बल द्वारा होमगार्ड और राजस्व विभाग का अमला साथ मिलकर बचाव कार्य चला रहा है.

Mus Read- क्या तारक मेहता को मिल गई है दयाबेन ? इस अभिनेत्री की हो रही है शो में एंट्री! कब से शुरू होगी शूटिंग?

स्थिति की गंभीरता को भांपते हुए एयरफोर्स के दो हेलीकॉप्टर आर्मी की एक कंपनी को स्टैंडबाय मोड पर रखा गया है. जल संसाधन विभाग लगातार बांध को सुरक्षित रखे जाने के कार्य में जुटा हुआ है.