गुजरात के सूरत शहर से काफी हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जहां शिव मंदिर में श्रद्धालुओं ने शिवजी को केकड़े का प्रसाद चढा रहे है। इसके पीछे लोगों की मान्यता है कि ऐसा करने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं। विशेष रूप से कान की बीमारियों से हो रहे दर्द से भी राहत मिलती है।

मंदिर के एक अधिकारी ने बताया कि बुधवार को प्रसाद चढ़ाया गया। यह हिंदू कैलेंडर के अनुसार मकर संक्रांति के ठीक बाद आने वाले ‘पौष’ महीने की एक शुभ तिथि है। इसे यहां उत्तरायण भी कहा जाता है। उन्होंने बताया कि यहां उमरा में तापी नदी के किनारे स्थित रामनाथ घेला महादेव मंदिर में ‘शिवलिंग’ पर केकड़े चढ़ाए गए।

Also Read : प्रेम-प्रसंग का मामला पहुंचा कोर्ट, जज कार्यवाही के दौरान दोनों को दी ये हिदायद

दरअसल स्थानीय मान्यता के अनुसार, जब भगवान राम तापी नदी के पास थे, तब एक केकड़े ने उनके पैर छुए थे। भगवान राम ने केकड़े को आशीर्वाद दिया था। तब से यह माना जाता है कि इस मंदिर में जीवित केकड़े चढ़ाने वालों की मनोकामना पूरी होती है और दर्द से राहत मिलती है। यह भी माना जाता है कि ऐसा करने से कान का दर्द दूर हो जाएगा। जबकि अधिकांश श्रद्धालु फूल, पत्ते और दूध चढ़ाते हैं। वहीं, कई लोग जीवित केकड़े चढ़ाने के लिए इस दिन का इंतजार करते हैं।