राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के बाहरी इलाके कंझावला मामले में दिन प्रतिदिन नए-नए खुलासे हो रहे है। अब इस मामले का सीसीटीवी वीडियो मिला है। इसमें देखा जा सकता है कि, जो लड़की को कार कई किलोमीटर तक घसीटते हुए ले जा रही थी। उसके पिछे-पिछे दिल्ली पुलिस की पीसीआर वैन दिखाई दे रही है। सीसीटीवी की फुटेज में देखा जा सकता है कि ठीक कार जिस रास्ते से निकली है उसी के चंद मिनट के बाद पीसीआर वैन गुज़री। पुलिस जांच कर रही है कि ये फुटेज किस इलाके का है किस जगह पर पीसीआर निकल रही थी।

पिछे-पिछे पीसीआर

गौरतलब है कि, कार जिस इलाक से गुजरी उसके आस-पास के इलाके में कोई भी पीसीआर वैन नहीं थी। लेकिन अब सामने आए इस ताजा सीसीटीवी वीडियो से ये साफ हो रहा है कि जिस इलाके से कार गुजर रही थी उसके आस-पास पीसीआर वैन थी। ऐसे में अब सवाल उठ रहे हैं कि इसके बावजूद भी घटना को अंजाम देने वाली कार पर किसी की नजर क्यों नहीं पड़ी।

Also Read : UP निकाय चुनाव पर सुप्रीम कोर्ट ने कही ये बात, यूपी सरकार ने चुनाव के लिए आरक्षण सूची की जारी

नए साल पर सुरक्षा को देखते हुए दिल्ली में चप्पे-चप्पे पर नजर

नए साल के मौके पर दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए राजधानी की सड़को पर 16500 सुरक्षकर्मी तैनात करने की बता कही गई थी। इतना ही नही 1000 से अधिक पिकेट खड़े करने की बात भी कही थी, इसमे कोई भी खाली नही रहेंगा। वही पीसीआर की तैनात करने की बात बताई। हालांकि पुलिस का कहना है कि उसे जैसे ही घटना की जानकारी मिली वैसे ही उसने तुरंत इसे लेकर कदम उठाया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक आरोपियों ने कंझावला और अमन विहार के बीच बनी पुलिस चौकियों से बचने का प्रयास किया और इलाके में घूमते रहे, उन्होंने तीन बार यू-टर्न लिया।

गौरतलब है कि नये साल के पहले ही दिन तड़के अंजलि की स्कूटी को एक कार ने टक्कर मार दी और कार में फंस गयी अंजलि को वे लोग करीब 12 किलामीटर तक सड़कों पर घसीटते रहे जिससे उसकी मौत हो गई। उसका शव बाहरी दिल्ली के कंझावला इलाके में सड़क किनारे पड़ा मिला।