देश की राजधानी दिल्ली में बीतें दिनों 17 साल की लड़की के ऊपर एसिड से हमला किया गया था। जिस हमले में पुलिस बड़ी कामयाबी मिली है, आरोपियों ने बताया द्वारका इलाके में नाबालिग छात्रा पर एसिड अटैक के लिए यह पदार्थ ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट से मंगवाया था।

मामले पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने अमेजन और फ्लिपकार्ट को नोटिस भेजकर जवाब मांगा है। आयोग ने नोटिस में लिखा है, “हमें पता चला है कि फ्लिपकार्ट और अमेज़न जैसे जाने-माने ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म पर तेजाब आसानी से उपलब्ध है जो कि ग़ैर-क़ानूनी है। ये गंभीर चिंता का विषय है और इस मामले में तुरंत जांच की जानी चाहिए।

बता दें पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपी 20 वर्षीय सचिन अरोड़ा है, जिसका सितंबर में पीड़िता से विवाद हुआ था। हमले में 19 वर्षीय हर्षित अग्रवाल और 22 वर्षीय वीरेंद्र सिंह भी शामिल थे।

Also Read : अग्निवीर योद्धा के लिए ख़ुशख़बरी, मंत्रालय के आदेश पर 10 हजार बढ़कर मिलेगा भत्ता
आयोग ने क्या किए सवाल?

आयोग ने इन दोनों ई-कॉमर्स कंपनियों से इसकी वजह पूछी है और सवाल किया है कि वो उन विक्रेताओं के बारे में पूरी जानकारी दें जिन्होंने इन प्लेटफॉर्म्स पर बिक्री के लिए ‘तेजाब’ को उत्पाद के तौर पर रखा है।