हनी सिंह मामले में अदालत का सख्त रवैया, मांगी मेडिकल रिपोर्ट

नई दिल्ली। भारत के मशहूर गायक और रैपर यो-यो हनी सिंह के ऊपर फिलहाल मुसीबतों का पहाड़ टूट गया है। जिसके चलते अब हनी सिंह ने शनिवार को दिल्ली हाईकोर्ट से सुनवाई के दौरान निजी तौर पर उपस्थित हो पाने में असमर्थता जताते हुए आज के लिए रियायत मांगी थी। इस दौरान उनके वकील ने अदालत को बताया कि उनकी तबीयत ठीक नहीं है जिसके चलते वह अदालत में पेश नहीं हो सकते। साथ ही वकील ने ये आश्वासन भी दिया कि अगली सुनवाई में वह जरूर कोर्ट में हाजिर होंगे।

Also Read: कोयला तस्करी मामले में अभिषेक बनर्जी को ED का समन, अमित शाह दी ये चुनौती

जिसके बाद उनकी इस दलील पर अदालत ने सख्त रवैया अपनाते हुए कहा कि अदालत से ऊपर कोई नहीं है और उन्हें अपनी मेडिकल रिपोर्ट और आईटीआर अदालत में जमा करानी होगी। दरअसल हनी सिंह की पत्नी ने उनके खिलाफ घरेलू हिंसा का आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया है। आपको बता दें कि, हनी सिंह की पत्नी शालिनी तलवार ने उनपर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। शालिनी ने हनी सिंह पर शारीरिक हिंसा, यौन हिंसा, मानसिक उत्पीड़न और आथिक हिंसा का आरोप लगाया है। हनी सिंह के साथ-साथ शलिनी ने उनके मां-पिता और बहन पर भी गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने हनी सिंह पर ‘द प्रोटेक्शन ऑफ वुमन फ्रॉम डोमेस्टिक वायलेंस एक्ट’ के तहत याचिका दायर की है। ये याचिका तीस हजारी कोर्ट में दाखिल है।

शालिनी तलवार की ये याचिका तीज हजारी कोर्ट की मजिस्ट्रेट तानिया सिंह के सामने पेश की गई। वकील संदीप कपूर, अपूर्वा पांडे और जीजी कश्यप ने शालिनी तलवार की ओर से याचिका मजिस्ट्रेट के सामने रखी। साथ ही हनी सिंह के खिलाफ कोर्ट ने एक नोटिस जारी किया और उन्हें 28 अगस्त से पहले इस पर रिप्लाई करने के लिए कहा था। कोर्ट ने स्त्रीधन को न छेड़ने पर भी हनी सिंह पर रोक लगाई है।