दुनिया में लगातार कोरोना के नए वेरियट से लोगो और सरकारों की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। वही अगर चीन की बात करे तो वहा पर लोगों की स्थिति काफी गंभीर है। कोरोना का नया वैरिएंट XBB.1.5 अन्य वैरिएंट्स की तुलना में वैक्सिनेटेड लोगों और कोरोना से संक्रमित हो चुके लोगों को ज्यादा प्रभावित कर रहा है। यह दावा एक नई रिसर्च में किया गया है।

केवल यह वैरिएंट जिम्मेदार

गौरतलब है कि, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, 38 देशों में एक्सबीबी.1.5 वैरिएंट के मामले मिले हैं जिनमें अमेरिका में 82 प्रतिशत कोरोना केसों के लिए केवल यह वैरिएंट जिम्मेदार है। वहीं, ब्रिटेन के आठ प्रतिशत और डेनमार्क के दो प्रतिशत कोरोना केस इस वैरिएंट की देन हैं।

स्टडी के मुताबिक, इस वैरिएंट के उन लोगों को भी संक्रमित करने की अधिक संभावना है। जिन्हें टीका लगाया जा चुका है या जिन्हें पहले COVID-19 हो चुका है।

XBB.1.5 स्ट्रेन, Omicron XBB वैरिएंट के परिवार का ही सदस्य है। जो Omicron BA.2.10.1 और BA.2.75 सब-वैरिएंट्स का रिकॉम्बिनेंट ( दो अलग-अलग वैरिएंट के जीन्स से मिलकर बनने वाला वायरस) है। XBB और XBB.1.5 अमेरिका में 44 प्रतिशत कोरोना मामलों के लिए जिम्मेदार है।

अमेरिका में अन्य वेरिएंट

यूरोपियन सेंटर फॉर डिजीज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल (ECDC) के अनुसार, सबवैरिएंट वर्तमान में अमेरिका में अन्य वेरिएंट की तुलना में 12.5 प्रतिशत तेजी से फैल रहा है।

Also Read : सावधान! 1 अप्रैल 2023 से ये गाड़ियां हो जाएंगी कबाड़, परिवहन मंत्रालय ने जारी किया आदेश

रॉयटर्स के अनुसार, जनवरी के पहले सप्ताह में 30 प्रतिशत केस इस सबवैरिएंट के ही थे जो पिछले सप्ताह सीडीसी के अनुमानित आंकड़े से 27.6% से भी अधिक है।

कोरोना वैक्सीन डोज लेने वाले हो सकते संक्रमित

NYC डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ एंड मेंटल हाइजीन के एक हालिया अध्ययन से पता चला है कि, XBB.1.5 COVID-19 का सबसे तेजी से फैलने वाला वैरिएंट है। जितना हमें अभी तक पता है, और बाकी वैरिएंट्स की तुलना करें तो इसके उन लोगों को भी संक्रमित करने की अधिक संभावना है। जिन्हें कोरोना का टीका लगा हुआ है या जिन्हें पहले COVID-19 की बीमारी हो चुकी है।

कोरोना से बचाव के लिए वैक्सिनेशन है जरूरी

उन्होंने टीकाकरण को बढ़ावा देने का आग्रह करते हुए कहा, ”हम अभी तक नहीं जानते हैं कि, क्या XBB.1.5 अधिक गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है। इसलिए COVID-19 की वैक्सीन और अपटेडेड बूस्टर डोज के साथ अपना बचाव ही का सबसे अच्छा तरीका है।

भारत में नए वेरियट के इतने मामले

INSACOG के तीन दिन पहले जारी हुए डेटा के अनुसार, भारत में अब तक COVID के XBB.1.5 के कुल 26 मामले पाए गए हैं। यह वैरिएंट अब तक 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में मिल चुका है। जिसमें दिल्ली, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल शामिल हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका में COVID मामलों में भारी उछाल के पीछे XBB.1.5 जिम्मेदार है।