कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने पार्टी की कमान हाथ में थामते ही एक बड़ा बदलाव करने जा रहे है। उन्होंने केंद्रीय चुनाव समिति (CEC) के साथ पहली बैठक की। इस दौरान पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित तमाम नेता मौजूद थे। बैठक में कहा कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में बहुत जल्द बदलाव करने जा रहे है। इसके साथ कांग्रेस में 50 साल से काम उम्र के कार्यकर्त्ताओं को नए पदों पर मौका देने की बात भी कही है।

इस घोषणा को किया लागू 

बैठक के बाद कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, ’50 वर्ष से कम उम्र के पार्टी कार्यकर्ताओं को पार्टी के 50% पद दिए जाने के उदयपुर घोषणा के प्रस्ताव को लागू कर दिया गया है। खड़गे जी ने निर्वाचित होते ही इसे लागू करने की घोषणा की थी और पार्टी के सभी सदस्यों ने इस घोषणा को स्वीकार कर लिया है।

इस व्यवस्था को करेंगे खतम 

खड़गे ने इससे पहले बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष का औपचारिक रूप से पदभार ग्रहण करने के बाद कहा कि पार्टी मौजूदा सरकार की ‘झूठ और नफरत की व्यवस्था’ को ध्वस्त करेगी वे दलित समुदाय से ताल्लुक रखने वाले 80 वर्षीय खड़गे ने 17 अक्टूबर को हुए ऐतिहासिक चुनाव में अपने प्रतिद्वंद्वी 66 वर्षीय शशि थरूर को मात दी थी. पार्टी के 137 साल के इतिहास में छठी बार अध्यक्ष पद के लिए चुनाव हुआ था। इसमें 24 साल बाद गांधी परिवार से बाहर का कोई व्यक्ति कांग्रेस का अध्यक्ष चुना गया था।

औपचारिक रूप से निर्वाचन पत्र सौंपा

खड़गे को यहां अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) मुख्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में औपचारिक रूप से निर्वाचन पत्र सौंपा गया और इसी के साथ उन्होंने पदभार ग्रहण कर लिया। खड़गे ने निर्वाचन पत्र सौंपे जाने के बाद कहा कि यह उनके लिए एक भावुक पल है और वह एक मजदूर के बेटे एवं साधारण कार्यकर्ता को पार्टी का अध्यक्ष बनाने के लिए कांग्रेस के नेताओं का आभार व्यक्त करते हैं।

पार्टी का मुश्किल दौर

खड़गे ने कहा, ‘मैं जानता हूं कि यह मुश्किल समय है। कांग्रेस द्वारा स्थापित लोकतंत्र को बदलने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस देश में मौजूद झूठ और नफरत की इस प्रणाली को तोड़ेगी। खड़गे ने इस दौरान ‘भारत जोड़ो यात्रा’ शुरू करने के लिए राहुल गांधी की भी सराहना की। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी देश में नई ऊर्जा का संचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 50 वर्ष से कम आयु वर्ग के नेताओं को पार्टी में 50 प्रतिशत पद दिये जाने, संगठनात्मक रिक्तियों को भरने, जन अंतर्दृष्टि विभाग एवं चुनाव प्रबंधन विभाग की स्थापना, राज्यों में राजनीतिक मामलों की समिति गठित करने जैसे उदयपुर घोषणापत्र के प्रस्तावों को क्रियान्वित किया जाएगा।

नही मिल रही युवाओं को नौकरी 

खड़गे ने कहा, ‘यह कैसा नया भारत है, जिसमें युवाओं को नौकरियां नहीं मिल रहीं, किसानों को जीप के नीचे कुचला जा रहा है, महिलाओं के खिलाफ अत्याचार बढ़ रहे हैं, लोग महंगाई की मार झेल रहे हैं, लेकिन सरकार आंखें मूंद कर बैठी है, सरकार अपने कुछ पूंजीपति मित्रों की मदद कर रही है।

उन्होंने कहा, ‘इस नये भारत में भुखमरी बढ़ रही है, शिक्षा की लागत बढ़ रही है, प्रदूषण बढ़ रहा है। सरकार सो रही है, लेकिन ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) और सीबीआई (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) लोगों को दबाने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रही हैं. इस नए भारत में दलित, अल्पसंख्यक और शोषित लोगों का अपमान किया जा रहा है और उनके अवसर छीने जा रहे है (नाथूराम) गोडसे को देशभक्त बताया जाता है और (महात्मा) गांधी को गद्दार कहा जाता है, बाबासाहेब (आम्बेडकर) के संविधान को (राष्ट्रीय स्वयंसेवक) संघ के संविधान से बदलने के प्रयास किए जा रहे हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री खड़गे ने कहा कि ऐसा नया भारत बनाने के लिए वे (केंद्र सरकार) कांग्रेस मुक्त भारत चाहते हैं, लेकिन उनकी पार्टी ऐसा होने नहीं देगी।