मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर सहित भोपाल और खजुराहो में होने वाले जी-20 सम्मेलन के विभिन्न कार्यक्रमों की तैयारियों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की। उन्होंने कहा कि इस आयोजन से जुड़ी सभी तैयारियां गरिमा के अनुरूप निर्धारित समय सीमा के पहले पूर्ण की जाए। इंदौर के एनआईसी कक्ष से इस वीडियो कांफ्रेंसिंग में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी, नगर निगम आयुक्त श्रीमती प्रतिभा पाल सहित अन्य अधिकारी शामिल हुए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जी-20 सम्मेलन की अध्यक्षता भारत को मिलना अत्यंत गौरव का विषय है। देश को यह पहली बार अवसर मिला है। मध्यप्रदेश में भी जी-20 सम्मेलन के विभिन्न कार्यक्रम इंदौर सहित भोपाल और खजुराहो में प्रस्तावित है। बताया गया कि इंदौर में फरवरी माह में कार्यक्रम होना प्रस्तावित है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमें इस अवसर का लाभ उठाना चाहिए। हमारी परंपरा, जीवन मूल्य व स्वच्छता की जानकारी इन देशों के अतिथियों तक पहुंचे, इसके सभी प्रबंध किए जाएं।

साथ ही उन्हें मध्यप्रदेश की विशेषताओं के बारे में भी बताया जाए। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मध्यप्रदेश की पहचान स्थापित करने का यह महत्वपूर्ण अवसर है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की आर्थिक तथा औद्योगिक उन्नति के बारे में भी उन्हें जानकारी देने की व्यवस्था की जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस अंतर्राष्ट्रीय आयोजन के लिए गरिमा के अनुरूप सभी तैयारियां हो। तैयारियों में किसी भी तरह की कमी नहीं रखी जाए। स्थानीय नागरिकों, विशेषकर युवाओं की रचनात्मक भूमिका भी कार्यक्रम में निर्धारित की जाए।

मुख्यमंत्री चौहान ने विस्तृत कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आयोजन को सफल बनाने के लिए सभी अधिकारी टीम भावना से कार्य करें।