जनजातीय बंधुओं के बीच पहुंचे CM Shivraj, नाच गाने के साथ बजाया ढोल

इंदौर 17 मार्च 2022
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार को जनजाति समाज के पारंपरिक लोक उत्सव भोंगर्या में शिरकत करने बड़वानी के सबसे दुर्गम क्षेत्र के विकासखंड पाटी मुख्यालय पहुंचे। उनके साथ उनकी धर्मपत्नी साधना सिंह चौहान भी थीं। वनवासियों की पारंपरिक वेशभूषा पहने मुख्यमंत्री ने जनजाति बंधुओं के साथ उनके उल्लास में सम्मिलित होते हुए कहा कि कोरोना के चलते वे अपने जनजातीय भाइ -बहनों से मिलने की लंबे अरसे से बाट जोह रहे थे।

ALSO READ: Indore Mandi मार्केट पर भारी होली का माहौल, व्यापार रहा न्यूनतम, जाने आज के भाव

जैसे ही कोरोना कंट्रोल हुआ वैसे ही वे अपनों के बीच अपना भोंगर्या मनाने चले आए। इस दौरान उन्होंने जनजातीय बंधुओं एवं जिले से कैबिनेट मंत्री श्री प्रेमसिंह पटेल तथा राज्यसभा सांसद डॉ. सुमेरसिंह सोलंकी, लोकसभा सांसद श्री गजेंद्र सिंह पटेल से कहा 2 साल बाद कोरोना कंट्रोल हुआ है, इसलिए दिल खोलकर उत्सव मनाने का अवसर हम सभी को प्राप्त हुआ है। इस पर्व में ढोल-मांदल की गूंज से चारों और उल्लास का वातावरण निर्मित होना चाहिए। इस दौरान मुख्यमंत्री ने सपत्नीक जनजातीय भाइ बहनों के साथ कदम से कदम मिलाकर लय और ताल से नृत्य भी किया।

पाटी के भोंगर्या में पारंपरिक मांदल से गुंजायमान हुआ वातावरण

सुदूर जनजातीय अंचल के विकासखंड पाटी में कोरोना संक्रमण के चलते लंबे अरसे से उत्सव का रंग फीका पड़ गया था, जिसे आज मुख्यमंत्री जी की सपत्नीक उपस्थिति ने भोंगर्या को उल्लास के रंग से सराबोर कर दिया। आज के इस भोंगर्या उत्सव में 30 से अधिक पारंपरिक वाद्य यंत्रों विशेषकर ढोल, मांदल के साथ युवाओं, महिला-पुरुषों ने उत्साह पूर्वक भागीदारी की।

ALSO READ: झाबुआ से बड़ी खबर: विधायक कांतिलाल भूरिया के काफिले पर हुआ हमला, ड्राइवर घायल

इस दौरान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भी पारंपरिक वाद्ययन्त्र बजाकर उत्सव में आनंद का संचार किया। मुख्यमंत्री के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं प्रदेश के कैबिनेट मंत्री श्री प्रेम सिंह पटेल, राज्यसभा सांसद डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी, लोकसभा सांसद श्री गजेंद्र सिंह पटेल सहित अन्य जनप्रतिनिधि भी जमकर थिरके।

मुख्यमंत्री की उपस्थिति में निकला पारंपरिक चल समारोह

आज उस समय उत्सव का उल्लास और दुगना हो गया जब जनजातीय बंधुओं के साथ मुख्यमंत्री भी सपत्नीक उमंग का जोश भरने के लिए निकले। इस दौरान नगर वासियों ने अपने भवनों की छतों से चल समारोह पर पुष्प वर्षा की तथा अपनों के बीच पधारे मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया।

पारंपरिक साफा एवं तीर कमान भेंट कर मंत्री ने किया मुख्यमंत्री का स्वागत

भोंगर्या उत्सव में पहुंचे मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान का प्रदेश के कैबिनेट मंत्री श्री प्रेम सिंह पटेल एवं राज्यसभा सांसद डॉ. सुमेरसिंह सोलंकी, लोकसभा सांसद श्री गजेंद्र सिंह पटेल ने साफा पहनाकर एवं तीर कमान भेंट कर अभिनंदन किया।

जनजातीय भाइयों ने भरी कुर्राटी, मुख्यमंत्री ने बजाया ढोल

कोरोना के कारण लंबे समय बाद हो रहे इस लोक संस्कृति का भोंगर्या पर्व पर जहां जनजातीय भाइयों ने अपने मूछों पर ताव देते हुए कुर्राटी भरकर कोरोना पर विजय का जय घोष किया, वहीं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भी जनजाति संस्कृति में विशेष स्थान रखने वाले मांदल को बजा कर वातावरण को पूरी तरह लोक संस्कृतिमय कर दिया।

मुख्यमंत्री ने की पाटी के विकास की कई घोषणाऐं

भौंगर्या पर्व के दौरान उपस्थित जनों को सम्बोधित करते हुये मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों की मांग पर पाटी के विकास की कई जनहितैषी घोषणाएं की। जिसमें पाटी के बस स्टेण्ड के लिये 40 लाख, गोई नदी पर नये पुल निर्माण के लिये 13 करोड़, घाट निर्माण के लिये 60 लाख, स्ट्रीट लाईट के लिये 80 लाख, अम्बा फल्या में पुलिया निर्माण के लिये 18 लाख की घोषणा की, साथ ही उन्होंने गोई नदी में स्टाप डेम बैराज बनाकर पानी रोकने व किसानों को सिंचाई हेतु उसका पानी देने की घोषणा भी की।

उन्होंने उपस्थित युवाओं को बताया कि पुलिस की 6 हजार पद की भर्ती हो चुकी है, 6 हजार और पद निकाले जायेंगे। इसमें शारीरिक दक्षता के भी अंक दिये जायेंगे, जो लिखित परीक्षा के बराबर होंगे। जल्दी ही और शिक्षकों के पदों एवं बैकलॉग के पदों पर भी भर्ती की जायेगी। कोरोनाकाल के दौरान बंद हो गये सामुहिक विवाह सम्मेलन पुनः प्रारंभ किये जायेंगे।

बड़वानी जिले में 600 से अधिक ग्रामों में से 280 ग्रामों में नल-जल योजना के माध्यम से पानी पहुंचाने का कार्य प्रगति पर है शेष ग्रामों में भी समूह नलजल योजना बनाकर इसी प्रकार नल के माध्यम से घर-घर टोटी के माध्यम से पीने का पानी पहुंचाया जायेगा।

कार्यक्रम में यह थे उपस्थित

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में इस वर्ष के इस अंतिम भोंगर्या में प्रदेश के कैबिनेट मंत्री श्री प्रेमसिंह पटेल, राज्यसभा सांसद डॉ. सुमेरसिंह सोलंकी, लोकसभा सांसद श्री गजेंद्र सिंह पटेल, पूर्व कैबिनेट मंत्री श्री अंतर सिंह आर्य, संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, पुलिस महानिरीक्षक श्री राकेश गुप्ता, कलेक्टर श्री शिवराज सिंह वर्मा, पुलिस अधीक्षक श्री दीपक कुमार शुक्ला, जिला पंचायत सीईओ श्री अनिल कुमार डामोर, श्री ओम सोनी, श्री बलवंत सिंह पटेल, श्रीमती गीता चौहान, श्री विक्रम चौहान, श्रीमती सायनाबाई पाण्डू, श्री दीलू मालवीय सहित बड़ी संख्या में स्थानीय जनप्रतिनिधि, दूर-दराज क्षेत्रों से आए ग्रामीणजन उपस्थित थे।