Bulli bai App case: उत्तराखंड में छुपी थी इस केस की मास्टरमाइंड, जानें मामला

indore news

नई दिल्ली। अगर आप सोशल मीडिया पर एक्टिव है तो आपने ‘बुली बाई ऐप’ (Bulli bai App case) के बारे में जरूर सुना होगा। अगर नहीं तो आपको बता दें कि, कई मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों को एडिट कर GitHub प्लेटफॉर्म पर बने ‘बुली बाई ऐप’ पर ऑक्शन के लिए डाली जाती थी। वहीं आपको यह जानकर हैरानी होगी कि, इस पूरे केस की और इस ऐप पर मुस्लिम महिलाओं की बोली लगवाने की मास्टरमाइंड महज 18 साल की लड़की है। इस मामले में मुंबई पुलिस ने आरोपी श्वेता सिंह को उत्तराखंड के रूद्रपुर से अरेस्ट किया है।

ALSO READ: डॉ. वरूण कपूर राष्ट्रीय स्तर के भारत संस्कृति सम्मान 2021 से अलंकृत

उत्तराखंड पुलिस हेडक्वार्टर के हवाले से बताया गया कि श्वेता को गिरफ्तार करने वाली मुंबई पुलिस की टीम फिलहाल रूद्रपुर में ट्रांजिट रिमांड पर लेने की प्रक्रिया पूरी कर रही है। ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद बुधवार को उसे मुंबई लाया जाएगा। वहीं दूसरी ओर इस मामले में बेंगलुरु से गिरफ्तार 21 साल के सॉफ्टवेयर इंजीनियर विशाल झा को मुंबई के बांद्रा मेट्रोपॉलिटन कोर्ट में पेश किया गया है। करीब आधे घंटे की सुनवाई के बाद आरोपी को 10 जनवरी तक के लिए पुलिस रिमांड पर सौंप दिया गया है। झा बिहार का रहने वाला है।

मुंबई पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, मुख्य आरोपी युवती ‘बुली बाई’ ऐप (Bulli bai App case) से जुड़े तीन अकाउंट हैंडल कर रही थी। सह आरोपी विशाल कुमार ने ‘Khalsa supremacist’ के नाम से खाता खोला। आरोपी युवती और विशाल झा दोनों अच्छे दोस्त हैं। दोनों की दोस्ती सोशल मीडिया के माध्यम से हुई थी। मुंबई पुलिस के मुताबिक दोनों नाम बदल कर सोशल मीडिया में अकाउंट चलाते थे और इन्होंने सिख संगठनों के नाम से कुछ अकाउंट खोल रखे थे। जिसके बाद अब साइबर सेल की टीम इन सोशल अकाउंट की जांच कर रही है, फिलहाल महिला की पहचान उजागर नहीं की गई है।

पूरा मामला

साथ ही इस पूरे मामले की बार की जाए तो यह मामला सबसे पहले 1 जनवरी को सामने आया था। साथ ही आरोपियों ने कई मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों को एडिट कर GitHub प्लेटफॉर्म पर बने ‘बुली बाई ऐप’ पर ऑक्शन के लिए डाली थी। इसमें उन महिलाओं को टारगेट किया गया था, जो सोशल मुद्दों पर सक्रिय थीं। इनमें कुछ महिला जर्नलिस्ट, एक्टिविस्ट और लॉयर शामिल हैं। इस मामले के सामने आने के बाद से ही पुलिस तहकीकात में जुट गई थी जिसके बाद अब इस मामले में हरकत समझ आई और मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।