Homeदेशरंगे हाथ पकड़ाया रिश्वतखोर, मांगी थी 10 हजार रुपए की रिश्वत

रंगे हाथ पकड़ाया रिश्वतखोर, मांगी थी 10 हजार रुपए की रिश्वत

भोपाल। ग्वालियर के डबरा में पुट्‌टी ग्राम पंचायत के सहायक सचिव को लोकायुक्त ने रिश्वतखोर को रंगे हाथ पकड़ा। लोकायुक्त ने रिश्वतखोर को 7 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा है। सहायक सचिव ने पंचायत के निर्माण कार्यो का मस्टर बनाने के एवज में 10 हजार रुपए रिश्वत मांगी थी। ये तीन हजार पहले ले चुका था जिसके बाद 7 हजार रुपए की दूसरी किश्त लेते ही उसे लोकायुक्त ने ट्रैप कर लिया। यह घटना कल यानी मंगलवार रात डबरा में पुट्‌टी गांव के सरपंच के घर की है। चार दिन पहले यह शिकायत सरपंच के पुत्र ने ग्वालियर लोकायुक्त एसपी से की थी। जिसके बाद रिकॉर्डिंग कर सहायक सचिव को जाल में फंसाया गया।

ALSO READ: Indore पुलिस ने बुजुर्ग महिला को सुरक्षित परिवार से मिलवाया

पूरा मामला

बीती रात लोकायुक्त ने ग्राम पंचायत पुट्‌टी के सहायक सचिव को रंगे हाथों गिरफ्तार किया। सहायक सचिव सचिन पांडे सात हज़ार रुपए की रिश्वत लेने सरपंच के घर पहुंचा था इस दौरान लोकायुक्त की टीम ने उसे रंगे हाथ पकड़ लिया। डबरा जनपद के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत पुट्टी के सहायक सचिव सचिन पांडे द्वारा सरपंच से पंचायत के निर्माण कार्यों के मस्टर बनाने को लेकर 10 हजार रुपए की रिश्वत मांगी जा रही थी। सरपंच के काफी समझाने के बाद भी सहायक सचिव पांडे मान नहीं रहा था।

इसके बाद सरपंच ने जब बात की तो सहायक सचिन ने दो किस्तों में रुपया देने की बात कही। जिसकी पहली किस्त के रूप वह 3 हजार रुपए कुछ दिन पहले ले चुका था। इसके बाद दूसरी और फाइनल किस्त के सात हकार रुपय मंगलवार को देना तय हुआ था लेकिन सरपंच के बेटे जितेन्द्र बोहरे को यह भ्रष्टाचार मंजूर नहीं था। जितेंद्र बोहरे ने इसकी लोकायुक्त ग्वालियर एसपी से 24 दिसंबर को की थी। जिसके बाद आरोपी की बातचीत को बतौर सबूत रिकॉर्ड किया गया था।

वहीं मंगलवार को लोकायुक्त टीम डबरा पहुंच गई और सहायक सचिव का इंतजार करने लगी। सहायक सचिव सचिन पांडे रिश्वत लेने सरपंच के विवेकानंद कॉलोनी स्थित घर जैसे ही पहुंचा उसने 7 हजार रुपए की रिश्वत लेकर रुपए जेब में रखे उसे लोकायुक्त की टीम ने रंगे हाथों पकड़ लिया है।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular