Homeदेशराशन की कालाबाजारी करने वाले का पर्दाफाश, लाखों का किया घोटाला

राशन की कालाबाजारी करने वाले का पर्दाफाश, लाखों का किया घोटाला

भोपाल, 13 दिसम्बर 2021

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री मीडिया प्रभारी के.के. मिश्रा ने अशोकनगर जिले में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीब हितग्राहियों के लिये आवंटित राशन की कालाबाजारी और पीओएस मशीन में फर्जी एंट्री करने वाले आरोपी निकुंज शर्मा को लेकर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि आरोपित की पत्नी श्रीमती साधना शर्मा जहां भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की सदस्य हैं, वहीं निकुंज शर्मा भारतीय जनता पार्टी के सह संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा का बड़ा भाई है!

ALSO READ: आत्मघाती हमले से दहला रूस, कान्वेंट स्कूल के छात्र ने मठ को किया नेस्तनाबूत

मिश्रा ने कहा कि एक ओर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी गरीब कल्याण योजना के माध्यम से गरीबों को निःशुल्क राशन पहुंचाने की वाहवाही लूट रहे हैं, मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान अपने वक्तव्यों में बार-बार कालाबाजारी करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही, उन्हें जेल भेजने और उनके विरूद्व रासूका लगाने की निरंतर धमकियां देते आ रहे हैं! जबकि हकीकत यह है कि पूरे प्रदेश में संचालित हो रही सार्वजनिक वितरण प्रणाली के करीब 90 प्रतिशत सोसायटी संचालक भाजपा व संघ परिवार से जुड़े होकर कालाबाजारी कर रहे हैं? जिन पर कोई कार्यवाही नहीं?

मिश्रा ने अपने उक्त आरोप को स्पष्ट करते हुए कहा कि अशोकनगर की सेवा संस्था रातीखेड़ा के समिति प्रबंधक निकुंज शर्मा ने कोरोना काल के सिर्फ चार महीनों में 13 लाख 45 हजार रूपयों से अधिक की राशन की कालाबाजारी की है। यह उनकी समिति की सिर्फ एक दुकान से संबद्व है, जबकि इसी संस्था से संबद्व दियादरी, शिजावत, तरावली और रातीखेड़ी दुकानों की जांच होना अभी शेष है। यदि इन दुकानों की भी जांच होती है तो कालाबाजारी का आंकड़ा करोड़ों तक पहुंच सकता हैं। मिश्रा ने कहा कि राजनैतिक संरक्षण प्राप्त निकुंज शर्मा ने पीओएस मशीन के डाटा में फर्जी पृविष्टियां कर गरीब हितग्राहियों को राशन का वितरण दर्शा दिया है।

जिला कलेक्टर अशोकनगर द्वारा करायी गई जांच में सेवा संस्था रातीखेड़ा के समिति प्रबंधक निकुंज शर्मा व विक्रेता श्याम गोस्वामी के विरूद्व आपराधिक प्रकरण दर्ज करा दिया गया है जो एक गंभीर अपराध की श्रेणी में आता है। मिश्रा ने गंभीर आरोप लगाते हुए यह भी कहा कि पूरे प्रदेश में भाजपा व संघ परिवार के लोगों द्वारा संचालित सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकानों में गरीब हितग्राहियों के राशन की व्यापक स्तर पर कालाबाजारी की जा रही है। राजनैतिक वरदहस्त होने के कारण इनके विरूद्व किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की जा रही है।

ऐसा ही एक मामला इंदौर में संघ से जुड़े प्रदीप दहीगुड़े के विरूद्व भी उजागर हुआ था, किंतु एक अन्य आरोपी पर रासूका लगाने के बाद प्रदीप के विरूद्व कोई भी कार्यवाही नहीं की गई। मिश्रा ने सीधा आरोप लगाते हुए कहा कि उक्त आरोपी भाजपा के सह संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा का बड़ा भाई है, इसलिए मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप उसके विरूद्व रासूका की कार्यवाही नहीं की गई! लिहाजा, निकुंज शर्मा पर रासूका लगायी जाये और हितानंद शर्मा को मप्र के प्रभावशाली प्रभाव से तत्काल हटाया जाये।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular