बिहार चुनाव: नहीं चलेगी ड्रैगन की चाल, भारत तैयार

Indo nepal border

पटना: बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है। ऐसे में चालबाज चीन बिहार चुनाव को प्रभावित करने के लिए कोई न कोई चाल जरुर चलेगा। इसको देखते हुए भारत की सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई है। खबर है कि चीन नेपाल के रास्ते बिहार चुनाव में खलल डालने की कोशिश करेगा। चीन कोई चाल चले इससे भारत-नेपाल सीमा पर तैनात जवान अलर्ट हो गए हैं।

आशंका है कि बिहार चुनाव को प्रभावित करने के लिए चीन नेपाल के जरिए शराब, हथियार सहित रुपये भी पहुंचा सकता है। चीन परदे के पीछे रहते हुए सीमाई इलाकों में होने वाले चुनाव के जरिए अपनी पैठ बनाना चाहता है। सीमा पर कोई तस्करी ना हो इसके लिए भारत-नेपाल सीमा पर विशेष सुरक्षा इंतजाम किए जा रहे है।

बिहार में चीन के सीधे घुसपैठ की कोई गुंजाइश नहीं है, ऐसे में वह नेपाल के उन नेताओं और संस्थानों की मदद ले सकता है, जो चीन के प्रति पहले से झुकाव रखते हों। वह उनके जरिए शराब, हथियार सहित रुपए भी भारत में पहुंचा सकता है। गौरतलब है कि बिहार में शराब से वोट प्रबहवित करना आम बात है।

ऐसे में चुनाव आयोग द्वारा अधिसूचना जारी होने के साथ ही बिहार नेपाल सीमा की सुरक्षा में लगे एसएसबी के अधिकारी भी चुनाव को सफल बनाने की तैयारी में लग गए हैं। हालांकि कोरोना के चलते बिहार-नेपाल सीमा सील है। यहां सीमा सीमा सुरक्षा के साथ मुख्य सड़क से लेकर अन्य मार्गों पर गहन गश्त एव सघन जांच अभियान चलाया जा रहा है।

चुनाव प्रभावित करने की आशंका के चलते एसएसबी दिन एवं रात में भी गश्त कर रही है। इस संबंध में एसएसबी के अधिकारी ने बताया कि कोरोना को लेकर सीमा सील है। चुनाव के मद्देनजर इस बटालियन के कुछ जवानों को कश्मीर से वापस बुला लिया गया है। चुनाव को लेकर ये पूर्णरूप से तैयार हैं।