बड़ी ख़ुशख़बरी: हार रहा OMICRON, क्या जीत जाएगा इंडिया?

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की दहशत यूँ तो पूरी दुनिया में हैं लेकिन इसके तेजी से बढ़ते मामलों के बीच एक खुशी की खबर आ रही हैं।

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन(OMICRON) की दहशत यूँ तो पूरी दुनिया में हैं लेकिन इसके तेजी से बढ़ते मामलों के बीच एक खुशी की खबर आ रही हैं। बताया जा रहा हैं कि महाराष्ट्र में नए वैरिएंट से संक्रमित जो पहला मरीज मिला था उसे अब अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। डोम्बिवली निवासी इस 33 वर्षीय संक्रमित को हालांकि कुछ दिन के लिए घर पर आइसोलेट रहना होगा। कल्याण-डोम्बिवली म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (KDMC) के कमिश्ननर डॉ. विजय सूर्यवंशी ने भी इस खबर की पुष्टि की है।

आपको बता दे कि डोम्बिवली निवासी 33 साल का युवक 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका के शहर केपटाउन से दुबई और वहां से दिल्ली होते हुए मुंबई पहुंचा था। तब उसे हल्का बुखार था। लेकिन जब उसने कोविड टेस्ट कराया तो उसे कोरोना पॉजिटिव पाया गया। और उस वक्त तक ओमिक्रॉन वैरिएंट दक्षिण अफ्रिका में अपना असली रूप दिखाने लग गया था। इसी कारण इस युवक के कोविड टेस्ट के सैंपल को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा गया था, जिसमें उसके ओमिक्रॉन वैरिएंट से ही संक्रमित होने की पुष्टि हो गई थी। इसके बाद से ही उसे कोविड केयर सेंटर में रखकर उपचार किया जा रहा था। हालांकि अब उसे अस्पताल से डिस्चार्ज करने के बाद एक नई उम्मीद की किरण जरूर जगी हैं।