सीता माता के जनकपुर पहुँची भारत गौरव ट्रैन, हुआ शानदार स्वागत

जनकपुर (नेपाल) पहुँची भारत गौरव ट्रैन, हुआ शानदार स्वागत ,रामायण सर्किट के भगवान राम से जुड़े सभी स्थलों के करा रही है दर्शन ।

21 जून मंगलवार को दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से 500 यात्रिओं को लेकर चली देश की पहली भारत गौरव ट्रैन नेपाल के जनकपुर स्टेशन पंहुच गई है। 14 कोचों की यह अत्यंत विशिष्ट ट्रैन धार्मिक यात्रा एवं पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू की गई है। ट्रैन को बहुत ही शानदार तरिके से डिज़ाइन किया गया है, भारतीय सभ्यता के रंगों से रंगी यह भारत गौरव ट्रैन अपने आप में अनोखी है। धार्मिक यात्रा का उद्देश्य होने से यह ऐसी पहली ट्रैन है कि जिसमें यात्रियों के लिए मंदिर की भी सुविधा है।

Read More : शादी के छह साल बाद तलाक लेंगे Raftaar और Komal Vohra, जानें इसके पीछे की वजह

रामायण सर्किट के सभी स्थलों के करा रही है दर्शन

भारत गौरव ट्रैन रामायण सर्किट के भगवान राम से जुड़े सभी स्थलों के दर्शन करा रही है। अयोध्या, नंदीग्राम, सीतामढ़ी, वाराणसी, प्रयागराज, चित्रकूट, नासिक (पंचवटी), हम्पी, रामेश्वरम आदि लगभग उन सभी स्थलों की यात्रा करवा रही है जोकि रामायण से जुड़े हुए दर्शनीय व पूजनीय स्थल हैं।

Read More : Indore : अंजली शुक्ला ने गली – गली घूम कर किया वोट का आग्रह साथ ही कार्यालय का भी किया उद्घाटन

सीता माता के जनकपुर पँहुची भारत गौरव ट्रैन, हुआ शानदार स्वागत

यह प्रथम अवसर है कि कोई ट्रैन भारत से चलकर नेपाल के जनकपुर तक पहुंच रही है। जनकपुर नेपाल के मधेश प्रदेश के धनुष जिले का स्टेशन है। रामायण की मान्यता अनुसार जनकपुर माता सीता का मायका व राजा जनक की राजधानी माना जाता है। ट्रैन के जनकपुर पंहुचने पर मधेश प्रदेश, नेपाल के मुख्यमंत्री लालबाबू राउत, मधेश प्रदेश के उद्योग, पर्यटन और वन मंत्री शत्रुघन महतो जनकपुरधाम के मेयर मनोज कुमार शाह, नेपाल रेलवे के महाप्रबंधक निरंजन झा, काठमांडू में भारतीय दूतावास के काउंसलर प्रसन्ना श्रीवास्तव सहित कई नेपाली नागरिकों ने भारत गौरव ट्रैन का व सभी यात्रियों का जोरदार स्वागत किया।