बंसल ग्रुप, हेल्थ-टेक और फिटनेस-टेक स्पेस में टोनोप के साथ करेगा विस्तार

कंपनी अपना ऐप 'टोनोप' लॉन्च करके हेल्थ-टेक और फिट-टेक स्पेस में एक निश्चित राशि का निवेश करने के लिए प्रतिबद्ध है। यह राशि कितनी है, इसकी घोषणा हाल-फिलहाल में नहीं हुई है। कोविड-19 महामारी के दौरान हुआ लॉकडाउन, पूरे भारत में तमाम जिम और फिटनेस सेंटर्स पर अनिश्चित समय के लिए ताले लगाने की सबसे बड़ी वजह बना, जिसके परिणामस्वरुप, कंज्यूमर्स के अस्वस्थ होने, वजन बढ़ने और अस्वस्थ खानपान की आदतों में भारी वृद्धि देखी गई।

भोपाल: प्रमुख कंपनियों में से एक, बंसल ग्रुप, जिसका मुख्यालय मध्य प्रदेश स्थित भोपाल में है, ऑइल, स्टील, इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट, मीडिया, हॉस्पिटल्स और एजुकेशन स्पेस में कई पोर्टफोलियो से परिपूर्ण है। अब यह ग्रुप हेल्थ-टेक और फिटनेस-टेक स्पेस में अपने कदम बढ़ाने की योजना बना रहा है।

कंपनी अपना ऐप ‘टोनोप’ लॉन्च करके हेल्थ-टेक और फिट-टेक स्पेस में एक निश्चित राशि का निवेश करने के लिए प्रतिबद्ध है। यह राशि कितनी है, इसकी घोषणा हाल-फिलहाल में नहीं हुई है। कोविड-19 महामारी के दौरान हुआ लॉकडाउन, पूरे भारत में तमाम जिम और फिटनेस सेंटर्स पर अनिश्चित समय के लिए ताले लगाने की सबसे बड़ी वजह बना, जिसके परिणामस्वरुप, कंज्यूमर्स के अस्वस्थ होने, वजन बढ़ने और अस्वस्थ खानपान की आदतों में भारी वृद्धि देखी गई। हालाँकि, इन सबसे, खास बात यह सामने आई कि लॉकडाउन ने डिजिटल फिटनेस स्पेस में भारी उछाल पैदा किया, जिसमें विश्व स्तर पर फिटनेस ऐप डाउनलोड में 46% की वृद्धि देखी गई, जबकि भारत में सबसे अधिक 146% और 580 लाख एक्टिव यूज़र्स के डाउनलोड देखे गए।

मोबाइल डेटा और एनालिटिक्स प्रोवाइडर ऐप, एनी की एक रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2020 में लगभग 71,000 नई फिटनेस और हेल्थ ऐप्स लॉन्च की गईं, जो वर्ष 2019 की तुलना में लगभग 13% अधिक थी। विस्तार योजनाओं पर बात करते हुए, अनिल बंसल, मैनेजिंग डायरेक्टर, बंसल ग्रुप कहते हैं, “महामारी के दौरान ऑनलाइन ट्रेनिंग तथा न्युट्रिशन प्लान्स आदि के आगाज़ ने फिटनेस इंडस्ट्री में क्राँतिकारी बदलाव किए हैं। कस्टमर्स के साथ जुड़े अनुभव के लिए इंडस्ट्री, तेज रफ्तार से डिजिटल अवसरों से लाभान्वित हो रही है। ज़ूमा, योगा, क्रॉसफिट आदि जैसी कई फिटनेस टेक्निक्स को डिजिटल टूल के माध्यम से लाइव स्ट्रीम किया जा रहा है। ये माध्यम बहुत से कंज्यूमर्स को उनकी व्यस्त दिनचर्या या ट्रेवल प्लान्स के कारण आमतौर पर भूले जाने वाले अपने वर्कआउट्स या डाइट्स को याद रखने और तनाव मुक्त तथा प्रेरित रहने में मददगार साबित हुए हैं। भारतीय फिटनेस और वेलनेस मार्केट 20% प्रति वर्ष की दर से बढ़त दर्ज कर रहा है और वर्ष 2025 तक इसके 12 बिलियन डॉलर तक पहुँचने की उम्मीद है।”

पार्थ बंसल, फाउंडर, टोनोप कहते हैं, “हमारा मुख्य उद्देश्य आने वाले महीनों में वर्कआउट को प्रेरक और डेटा-ड्रिवेन बनाकर फिटनेस को आदत के रूप में विकसित करने में लोगों की सहायता करना है। इसके लिए हम अपने स्टूडियो से अत्यधिक आकर्षक वर्कआउट प्रोग्राम विकसित करने में हमारी मदद करने के लिए इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स और कोचेस को शामिल कर रहे हैं। समय के बदलने के साथ हर दिन नई टेक्नोलॉजीस लॉन्च हो रही है। वहीं, लोगों का रुझान भी टेक्नोलॉजी की तरफ बढ़ चला है। और जैसा कि हम अपने यूज़र्स के लिए टेक्नोलॉजी-बेस्ड सॉल्यूशंस लाने के लिए सशक्त हैं, उनके महत्वपूर्ण समय की बचत करने और उनकी नज़र में और भी अधिक भरोसेमंद बनने के लिए भी प्रतिबद्ध हैं।” वे आगे कहते हैं, “हमारा लक्ष्य ‘हेल्थ और न्यूट्रिशन के लिए वन-स्टॉप सॉल्यूशन’ के नाम को ‘सुपर ऐप’ के रूप में मान्यता प्रदान करना है, जो हेल्थ वैलनेस और न्यूट्रिशन संबंधी जरूरतों के लिए एंड-टू-एंड सॉल्यूशन प्रदान करता है।”

ऐप को क्यूरेट किया जा रहा है और यह बेहतर मार्केट ऑफरिंग प्रदान करेगा, जो ऐप को कॉम्पिटिशन की भीड़ से अलग करने में मदद करेगा। ऐप का उद्देश्य अपने यूज़र्स को उनकी जीवन शैली और जरूरतों के अनुसार क्षेत्र-आधारित डाइट प्लान्स प्रदान करना है, जो कि पूरी तरह ए.आई. (आर्टिफिशल इंटेलिजेंस) ड्रिवेन है।
वर्तमान में, टोनोप भोपाल में बीटा परीक्षण कर रहा है और इस महीने के अंत तक इसे लॉन्च किए जाने की योजना है।