2021 की जनगणना के बाद बदलेगी देश की तस्वीर, घुसपैठियों पर होगी नजर

0
50

नई दिल्ली: साल 2021 में राष्ट्रीय स्तर पर जनगणना के बाद देशभर में राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनआरसी) लागू किया जाएगा. बता दें कि, छतरपुर में हुई इस बैठक में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की अपने अनुषांगिक संगठनों, सरकार के प्रतिनिधियों और भाजपा नेताओं ने इस फैसले को लिया गया है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस बैठक में कश्मीर से धारा हटाए जाने के बाद स्थिति और अयोध्या विवाद के आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर भी काफी लंबी चर्चा हुई. इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा और संगठन महासचिव बीएल संतोष भी शामिल हुए.

जानकारी के अनुसार इस बैठक में एनआरसी को लेकर काफी विशेष चर्चा हुई है. इस दौरान संघ एक वरिष्ठ नेता ने एनआरसी को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बेहद जरूरी बताते हुए कहा कि नागरिकों की पहचान और घुसपैठियों को चिन्हित करने के लिए देश के सभी राज्यों में एनआरसी लागू करने की प्रक्रिया जल्द शुरू की जानी चाहिए.

साल 2021 में होने वाली जनगणना के बाद एनआरसी को चरणबद्ध् तरीके से राज्यों में लागू किए जाने पर सहमति बनी. इस फैसले में तय किया गया कि एनआरसी के लिए पहले उन राज्यों को चुना जाए जहां घुसपैठ की समस्या सबसे ज्यादा देखी जाती हैं. सिर्फ इतना ही नहीं यह भी तय किया गया कि एनआरसी के समर्थन में माहौल तैयार किया जाना चाहिए. लोगों को बताया जाना चाहिए कि यह प्रक्रिया देश की सुरक्षा के लिए जरूरी है और इसका किसी विशेष धर्म से कोई लेना देना नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here