केन्द्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी है। बजट सत्र के बीच कर्मचारियों को एक साथ कई सौगात मिल सकती है। इनमें फिटमेंट फैक्टर, महंगाई भत्ता, हाउस रेंट अलाउंस, 18 माह का DA एरियर सम्मिलित है। मीडिया सूत्रों के अनुसार, बजट सत्र के खत्म होने के बाद केन्द्र की मोदी सरकार कर्मचारियों के फिटमेंट फैक्टर पर निर्णय ले सकती है। अगर एग्रीमेंट बनता है तो कर्मचारियों की बेसिक पगार 8000 बढ़ने के बाद 18,000 से 21,000 या 26,000 हो जाएगी। इसका प्रॉफिट लगभग 53 लाख कर्मचारियों को होगा।

दरअसल, वर्तमान में कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर 2.57 है और बेसिक पगार 18,000 है। लंबे वक्त से केंद्र के कर्मचारी का फिटमेंट फैक्टर को 3.68 तक बढ़ाने की डिमांड कर रहे है, ऐसे में केन्द्र की मोदी सरकार 2023 में आने वाले इलेक्शन को देखते हुए कर्मचारियों की फिटमेंट फैक्टर पर निर्णय ले सकती है। 7th Pay Commission समिति के अंतर्गत कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर (Fitment Factor) 2.57 से बढ़ाकर 3.00 या फिर 3.68 परसेंट किया जा सकता है। इससे पहले सरकार ने 2016 में फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाया था और इसी वर्ष से 7th pay commission को भी लागू किया गया था, जिसके बाद कर्मचारियों बेसिक पगार 6,000 से बढ़कर 18,000 हो गई थी।

Also Read – IMD Alert: अगले 48 घंटो में इन 12 जिलों में होगी मूसलाधार बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

50 हजार से 1 लाख तक होगा इजाफा

मौजूदा समय में  7th Pay Commission कमेटी के अंतर्गत कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर 2.57 गुना है और बेसिक सैलरी 18,000 है। 7th Pay Commission कमेटी में जो Pay matrix बने है वे Fitment factor पर आधारित हैं, जिसकी वजह से कर्मचारियों को मिलने वाली पगार में फिटमेंट फैक्टर (Fitment Factor) का अहम रोल माना जाता है फिटमेंट फैक्टर (Fitment Factor) एक कॉमन वैल्यू होती है, जिसे कर्मचारियों की सामान्य तनख्वाह से गुणा किया जाता है और इसी से उनका वेतन कैलकुलेट की जाती है। इससे सैलरी में करीब ढाई गुना से अधिक की वृद्धि होती है।

एक्साम्प्ल के तौर पर, यदि किसी केंद्रीय कर्मचारी की सामान्य तनख्वाह 18,000 रुपए है, तो भत्तों को छोड़कर उसकी सैलरी 18,000 X 2.57 = 46,260 रुपए का लाभ होगा। 3.68 होने पर सैलरी 95,680 रूपए (26000 X 3.68 = 95,680) हो जाएगी मतलब वेतन में 49,420 रुपए का लाभ मिलेगा। 3 गुना फिटमेंट फैक्टर (Fitment Factor) होने पर कर्मचारियों की सैलरी 21000 X 3 = 63,000 रूपए होगी। अगर किसी कर्मचारी को 15,500 रूपए बतौर बेसिक पे मिल रहे हैं तो उसकी सैलरी 15,500 * 2.57 या फिर 39,835 रूपए होगी। हालांकि अभी तक सरकार की ओर से कोई इसकी किसी भी प्रकार की ऑफिसियल पुष्टि या स्टेटमेंट सामने नहीं आया है।

HRA में इजाफा संभव

बजट 2023 में केंद्रीय कर्मचारियों (central government employees) के लिए दूसरा सबसे बड़ा ऐलान उनके हाउस बिल्डिंग अलाउंस (HBA) को लेकर हो सकता है। मौजूदा वक्त में House Building allowance की इंटरेस्ट रेट्स 7.1% है, इसके अंतर्गत कर्मचारी घर बनाने के लिए 25 लाख रुपए तक ये एडवांस धनराशि ले सकते है, सूत्रों की मानें तो HBA की इंटरेस्ट रेट्स (HBA Interest rate) को रिवाइज करके 7.5% किया जा सकता है और 25 लाख की लिमिट को बढ़ाकर भी 30 लाख रुपए किया जा सकता है। फिलहाल इसकी अभी ऑफिसियल पुष्टि होना बाकी है।

18 महीने के DA एरियर पर डिसीजन

केन्द्रीय कर्मचारियों (Central Employees) का जुलाई 2020 से जनवरी 2021 तक का DA का एरियर बकाया है, जंहा ऐसी आशंका जताई जा रही है कि सरकार बजट सत्र के बीच या बाद में DA एरियर पर भी कोई आखिरी निर्णय ले सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बजट सत्र में बकाया एरियर के लिए राशि आवंटित की जा सकती है या फिर इसे किस्तों में देने का भी ऐलान किया जा सकता है। हालांकि सरकार की ओर से कोई नया अपडेट नहीं आया है। अगर पेमेंट होता है तो कर्मचारियों के अकाउंट में 2.18 लाख रूपए तक आ सकते हैं। DA एरियर का पैसा कर्मचारियों को उनकी पगार बैंड के मुताबिक मिलेगा।

किसका कितना एरियर बनेगा

आशंका है कि स्तर-1 के कर्मचारियों का 11,880 रुपए से लेकर 37,554, स्तर – 13 (7th CPC बेसिक पे-स्केल 1,23,100 रुपए से 2,15,900 रुपए) और स्तर-14 (पे-स्केल) को 1,44,200 रुपए से 2,18,200 रुपए का एरियर बकाया है।अगर कर्मचारी का सामान्य वेतन 18,000 रुपए है, उसे 3 महीने के हिसाब से बकाया DA एरियर (4,320 + 3,240 + 4,320) = 11,880 रुपए मिल सकता है। अगर कर्मचारी का सामान्य वेतन 56,000 रुपए है उसे 3 माह का (13,656 + 10,242 + 13,656) = 37,554 रूपए का DA एरियर मिलेगा। यह आंकड़े उदाहरण के रूप में दर्शाए गए है, इसमें परिवर्तन भी हो सकता है।

4 फीसदी तक DA में इजाफा संभव

2023 में एक बार फिर कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (Dearness Allowance) में 3 – 4 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है। यह अटकलें नवंबर तक के AICPI इंडेक्स के जारी आंकड़ों से लगाई गई है। नवंबर तक ये आंकड़ा 132.5 पर रहा है, अभी दिसंबर के आंकड़े आना बाकी है, इससे निश्चित होगा कि जनवरी 2023 में कितना DA बढ़ेगा। आशंका है कि DA 38 फीसदी से 41 प्रतिशत हो सकता है। इससे कर्मचारियों की मूल पगार में कुल 720 प्रति और अधिकतम वेतन रेंज के कर्मचारियों के लिए 2276 प्रति माह की रेट से इजाफा तय है। इसे 1 जनवरी 2023 से लागू किया जा सकता है, ऐसे में 2 महीने का एरियर भी दिया जा सकता है। इसका लाभ 48 लाख कर्मचारियों और 68 लाख पेंशनर्स को होगा।इसका ऐलान 1 मार्च को हो सकता है, चूंकि इसी दिन कैबिनेट बैठक होना है।

Also Read – ’13वीं की तैयारी कर लो’, बागेश्वर सरकार के चचेरे भाई को फोन पर मिली धमकी