पिछले महीने यानी सितंबर के आखिर में ही केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ता बढ़ाने का ऐलान किया था और इसे 34 फीसदी से बढ़ाकर 38 फीसदी कर दिया था. इसके बाद से ही कई राज्य सरकारों ने अपने कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ता बढ़ाने की घोषणाएं करने का सिलसिला शुरू कर दिया है. अब एक और राज्य का नाम इस कड़ी में जुड़ गया है.

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य कर्मचारियों और पेंशन भोगियों को दिवाली का तोहफा देते हुए महंगाई भत्ते और महंगाई राहत की दर में एक जुलाई से चार फीसदी की वृद्धि का ऐलान किया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार रात ट्वीट कर इसकी जानकारी दी जिसमें उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य कर्मचारियों और पेंशनरों/पारिवारिक पेंशनरों के महंगाई भत्ते व महंगाई राहत की मौजूदा दर 34% को एक जुलाई 2022 से बढ़ाकर 38% कर दिया है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसी ट्वीट में एक और महत्वपूर्ण घोषणा करते हुए कहा ‘वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए प्रत्येक कर्मचारी को 6,908 रुपये बोनस देने का निर्णय लिया गया है.’

ये राज्य भी कर चुके हैं महंगाई भत्ता बढ़ाने का ऐलान

14 अक्टूबर को छत्तीसगढ़ सरकार में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाने का एलान किया था और इसे 5 फीसदी बढ़ाकर 33 फीसदी कर दिया था.इससे करीब 3.80 लाख कर्मचारियों को फायदा होने की उम्मीद है.इससे पहले अक्टूबर की शुरुआत में ही दिल्ली सरकार ने भी अपने कर्मचारियों के लिए 4 फीसदी महंगाई भत्ता बढ़ाने की घोषणा की थी. झारखंड सरकार ने 10 अक्टूबर को अपने कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ता 4 फीसदी बढ़ा दिया था और इसे 1 जुलाई 2022 से लागू करने का निर्देश दिया था. राजस्थान की सरकार ने भी अपने कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते में इजाफा कर दिया था और इसे 34 फीसदी से 38 फीसदी पर ले आई है.

केंद्र सरकार ने महंगाई भत्ते में वृद्धि की थी और उसके बाद से ही राज्य के लोगों को भी ये उम्मीद थी कि योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली मौजूदा यूपी सरकार भी सरकारी कर्मचारियों को लेकर ऐसा कोई फैसला कर सकती है. केंद्र सरकार ने भी महंगाई भत्ते में चार फीसदी की वृद्धि करते हुए इसे 38 फीसदी करने का एलान किया था जो कि जुलाई से ही प्रभावी है.