शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, जल संरक्षण के लिए उठाया ये कदम

सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan ) ने एक बार फिर से MP के लिए एक बड़ा फैसला ले लिया है। इस बार प्रदेश में पानी की कमी को लेकर फैसला लिया गया है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan ) ने एक बार फिर से MP के लिए एक बड़ा फैसला ले लिया है। इस बार प्रदेश में पानी की कमी को लेकर फैसला लिया गया है। इस प्रोजेक्ट (Project) से कही भी पानी की कमी नहीं होगी और इसके साथ ही जल संरक्षण (Water Conservation) भी होगा। इसके लिए तालाब से जुड़े सारे काम को देखने के साथ ही सरोवर प्राधिकरण (Lake Authority) भी बनाए जाएंगे। इसकी देख-रेख भी बड़े अच्छे से की जाएगी। नए तालाब के बनने से लेकर तालाब की सफाई तक के सारे काम सरोवर प्राधिकरण देखेगा।

महेंद्र सिंह सिसोदिया ने बताया की सरोवर प्राधिकरण ग्रामीण विकास विभाग के निचे काम करेगा। इसकी बनावट और बनाने के नियमों से जुड़ी हुई दिक्कतों को तैयार करने के बाद ही इसे कैबिनेट के सामने रखा जाएगा। रास्ता बनाने की तैयारी तो शुरू हो गई है। इस तरह से ही पुरे राज्य में बाकी निर्माण और निगरानी एजेंसियां ​​​​काम करेंगी। इस तरह से ही सरोवर प्राधिकरण का काम भी पूरा हो जाएगा। इस योजना से सीधी,सिंगरौली,रीवा के साथ ही 52 जिलों को लाभ मिलेगा।

इसकी निगरानी रखने के लिए IAS को MD बनाया जाएगा। मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने बताया कि इस मामले में कोई भी राजनीतिक नियुक्ति नहीं की जाएगी। सरोबार प्राधिकरण के साधन से ही अमृत सरोबार योजना से जुड़े काम किए जाएंगे। वहीं मनरेगा के चलते इनकी तैयारियों का आयोजन किया जाएगा। तालाब की मरम्मत और स्वच्छता की ज़िम्मेदारी भी दी जाएगी।