Breaking News

वरिष्ठ नागरिको के हित में कार्य को लेकर उज्जैन को मिले दो राष्ट्रीय पुरस्कार

Posted on: 09 Oct 2017 13:10 by Ghamasan India
वरिष्ठ नागरिको के हित में कार्य को लेकर उज्जैन को मिले दो राष्ट्रीय पुरस्कार

नई दिल्ली : उज्जैन जिले में विगत एक वर्ष से अधिक समय में वरिष्ठ नागरिको के लिए अनेकों कार्य किये गए हैं, जिनमें 60 वर्ष से अधिक आयु के 39498 व्यक्तियों को 1 करोड़ 35 लाख रूपए की पेंशन वितरण, राष्ट्रीय वयोश्री योजना अंतर्गत सहायक उपकरण वितरण कार्यक्रम का सफलतापूर्वक आयोजन कर 2150 वरिष्ठ नागरिकों को छड़ी, व्हीलचैयर, वैसाखी, श्रवण यंत्र इत्यादी का वितरण किया गया है। समय – समय पर ग्राम पंचायतों में स्वास्थ्य मनोरंजन के लिए भी कार्य किए गए हैं। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के अंतर्गत उज्जैन जिले से अब तक 47 यात्राओं में 11920 व्यक्तियों को वैष्णो देवी, काशी, जगन्नाथपुरी, रामेश्वरम, तिरुपति, द्वारका की यात्रा कराई गई है। उक्त सभी कार्यों को एकीकृत करते हुए उज्जैन जिले की जिला पंचायत एवं जिले की नगर पालिका परिषद नागदा को सर्वांगीण विकास हेतु उत्कृष्ट कार्य के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किए गये। सोमवार 9 अक्टूबर को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द के हाथों कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने यह पुरस्कार प्राप्त किए। इस अवसर पर केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री महेश परमार, नागदा नगर पालिका अध्यक्ष, सीईओ जिला पंचायत श्री संदीप जी.आर., मुख्य नगर पालिका अधिकारी नागदा भी उपस्थित थे.

उज्जैन जिले में जबसे कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे की पद स्थापना हुई है तब से सामाजिक सुरक्षा एवं वृद्धजनों के कल्याण के लिए कामों को तेजी आ गई है।कलेक्टर ने जिले में 7 डे केअर सेंटर ( आनंदघर)वृद्ध जनो के लिए प्रारम्भ किये । हाल ही में ग्रामीण क्षेत्रों में भी डे केअर सेंटर (आनंद घर) शुरू किये गये हैं। जिले में जिला प्रशासन की यह अनूठी पहल है ।
उल्लेखनीय है कि उज्जैन जिला स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत ओडीएफ घोषित किया गया है। स्वच्छ भारत मिशन में 11851 एसे परिवार संज्ञान में आए जिनमें परिवार का मुखिया 60 वर्ष से अधिक आयु का था । इन मुख्य परिवारों में पारिवारिक सदस्य नहीं होने के कारण अथवा वृद्ध के परिवार में वयस्क सदस्य नहीं होने के कारण ऐसे वृद्ध व्यक्तियों के लिए उज्जैन जिले की जिला पंचायत एवं प्रशासन द्वारा विशेष सहयोग अभियान चलाकर पक्के शौचालय निर्मित किये गये.

प्रधानमंत्री आवास योजना में कच्चे आवास वाले वृद्ध जनों को हैंड होल्डिंग सपोर्ट प्रदान कर उनकी आवास समस्या का निराकरण कर आवास निर्माण करने में पूरा सहयोग किया जा रहा है। जिले में 1954 ऐसे हितग्राही सामने आए हैं इन परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन ने ग्राम पंचायतों के सचिवों के सहयोग से आवास पूर्ण करवा लिए हैं ।
शत प्रतिशत वरिष्ठ नागरिकों के आधार पंजीयन में उज्जैन जिला अव्वल रहा है। जिले में 80 वर्ष से अधिक आयु वाले 6558 हितग्राहियों को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन अंतर्गत पेंशन प्रदान की जा रही है । जबकि माता पिता भरण पोषण अधिनियम के तहत जिले में बहुत अच्छा कार्य हुआ है बाधारहित वातावरण के लिए रैम्प बनाए गए हैं। उक्त सभी कार्यो को दृष्टिगत रखते हुए उज्जैन जिले को पुरस्कृत किया गया है.

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com