भारत के खूबसूरत पर्यटक स्थलों में एक है ऊटी

0
44

नई दिल्ली :ऊटी तमिलनाडु राज्य का एक शहर है। कर्नाटक और तमिलनाडु की सीमा पर बसा यह शहर मुख्य रूप से एक पर्वतीय स्थल (हिल स्टेशन) के रूप में जाना जाता है। इसे उधगमंडलम भी कहा जाता है। कोयंबटूर यहां का निकटतम हवाई अड्डा है। सड़कों द्वारा यह तमिलनाडु और कर्नाटक के अन्य हिस्सों से अच्छी तरह जुड़ा है, परन्तु यहां आने के लिये कन्नूर से रेलगाड़ी या ट्वाय ट्रेन की जाती है।यह तमिलनाडु प्रान्त में नीलगिरी की पहाड़ियों में बसा हुआ एक लोकप्रिय पर्वतीय स्थल है। उधगमंडलम शहर का नया आधिकारिक नाम तमिल है। ऊटी समुद्र तल से लगभग 7440 फीट (2268 मीटर) की ऊंचाई पर स्थित है। ऊटी को ‘हिल स्टेशन की रानी’ भी कहा जाता है। रोमेंटिक होने के साथ-साथ प्राचीन समुद्र तटों, हिल स्टेशनों और शानदार वन्य जीवन का सजीव प्रतीक दक्षिण भारत यात्रा करने के लिए एक आदर्श जगह है। सभी रोमांच प्रेमियों तथा प्रकृति प्रेमियों के लिए ऊटी बेहतरीन स्थानों में से एक है।

1- बॉटनिकल गार्डन-
यहां के दर्शनीय स्थलों में सबसे पहला नाम बॉटनिकल गार्डन का आता है। यह गार्डन 22 एकड़ में फैला हुआ है और यहां लगभग 650 दुर्लभ किस्म के पेड़-पौधों के साथ-साथ, अद्भुत ऑर्किड, रंगबिरंगे लिली के फूल, ख़ूबसूरत झाड़ियां व 2000 हज़ार साल पुराने पेड़ के अवशेष देखने को मिलते हैं। Botanical-Garden2- ऊटी झील-
ऊटी झील को देखना अपने आप में एक अनोखा और सुखद अनुभव है। झील के चारों ओर फूलों की क्यारियों में तरह-तरह के रंगबिरंगे फूल यहां की ख़ूबसूरती में चार चांद लगाते हैं। झील में मोटर बोट, पैडल बोट और रो बोट्स में बोटिंग का लुत्फ भी उठाया जा सकता है।Ooty-Lake3- डोडाबेट्टा चोटी-
डोडाबेट्टा ऊटी से लगभग 8 किलोमीटर दूर स्थित है। यह नीलगिरी का सबसे ऊंचा पर्वत है। इसकी ऊंचाई 2,636 मीटर है। यहां से पूरे इलाक़े का विहंगम दृश्य देखा जा सकता है। यह चोटी समुद्र तल से 2623 मीटर ऊपर है। यह ज़िले की सबसे ऊंची चोटी मानी जाती है। यह चोटी ऊटी से केवल 10 किमी. दूर है इसलिए यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है।Doddabetta-top4- कालहट्टी जलप्रपात-
कालहट्टी जलप्रपात ऊटी का एक ख़ूबसूरत दर्शनीय स्थल है। यह जलप्रपात लगभग 100 फुट ऊंचा है। यहां का सौंदर्य देखकर लोग मंत्रमुग्ध हो जाते हैं। यहां अनेक प्रकार के पर्वतीय पक्षी भी देखे जा सकते हैं। कालपट्टी के किनारे स्थित यह झरना 100 फीट ऊंचा है। Kalhatti-Falls5-कोटागिरी हिल-
कोटागिरी हिल ऊटी से 28 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। कोटागिरी हिल प्राकृतिक सुंदरता के लिए दर्शनीय स्थल है। यहां के चाय बाग़ानों को देखने के लिए पर्यटक दूर-दूर से आते हैं। नीलगिरी के तीन हिल स्टेशनों में से यह सबसे पुराना है।

Kotagiri-Hill

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here