सोनिया से ईडी की पूछताछ की कार्यवाही और राहुल गांधी की गिरफ्तारी के बाद इंदौर शहर से युवा कांग्रेस नेता गिरफ्तार

नेशनल हेराल्ड अखबार के मामले में मनी लॉन्ड्रिंग केस के पूछता में कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ईडी ऑफिस पहुंचने के बाद राहुल गांधी सहित कई कांग्रेस नेताओं ने धरना प्रदर्शन कर विरोध जताया।

नेशनल हेराल्ड अखबार के मामले में मनी लॉन्ड्रिंग केस के पूछता में कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ईडी ऑफिस पहुंचने के बाद राहुल गांधी सहित कई कांग्रेस नेताओं ने धरना प्रदर्शन कर विरोध जताया। जिसमे उनको दिल्ली पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इधर मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में युवक कांग्रेस कार्यकर्ता ने ईडी ऑफिस के मुख्य गेट पर लगी नाम पट्टी पर कालिख पोती। इसके बाद पुलिस ने बलप्रयोग कर कार्यकर्ताओं हिरासत में ले लिया है।

सोनिया गांधी से फिर एक बार और नेशनल हेराल्ड न्यूज़ पेपर की मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय ऑफिस पहुंचने के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी सहित पार्टी के संसद और कार्यकर्ता धरना प्रदर्शन कर रहे है। दिल्ली के विजय चौक पर किये गए प्रदर्शन में राहुल सहित पार्टी के सभी को हिरासत में लिया गया है। इधर इंदौर में ईडी ऑफिस के बाहर कांग्रेस के युवा नेताओं ने भारी संख्या में हंगामा किया। इसके साथ ही उन्होंने नारे लगाए और ऑफिस के बाहर लगी नाम पट्टी पर काली पोती दी। पुलिस से बल प्रयोग कर कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है।

Also Read : इंदौर : 56 करोड़ में लव कुश चौराहे पर बनेगा सिक्स लेन ब्रिज, आय डी ए को होगा 10 करोड़ का फायदा

दिल्ली पुलिस ने राहुल को विजय चौक पर हिरासत में लिया, जहां कांग्रेस के तमाम सांसद सोनिया गांधी से ईडी की पूछताछ का विरोध कर रहे हैं। राहुल को बस से पार्लियामेंट स्ट्रीट पुलिस स्टेशन ले जाया गया है। हिरासत में लिए जाने से पहले राहुल गांधी ने कहा, ‘यहां (विजय चौक पर) सभी कांग्रेस सांसद आए थे। उन्होंने बेरोजगारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर बात की। लेकिन पुलिस हमें यहां बैठने नहीं दे रही हैं। संसद के भीतर चर्चा की इजाजत नहीं है और यहां पुलिस हमें गिरफ्तार कर रहे हैं।’

मल्लिकार्जुन खड़गे पुलिस की गिरफ्त में

वहीं, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, ‘ये मोदी जी और अमित शाह जी की साजिश है कि विपक्ष को खत्म करना है और हमारी आवाज बंद करना है। हम इससे डरने वाले नहीं है। हम लड़ते रहेंगे.’ दिल्ली पुलिस ने मल्लिकार्जुन खड़गे को भी हिरासत में ले लिया है। कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्डा ने कहा, ‘हमने मांग की थी कि संसद में बेरोजगारी, महंगाई, अग्निपथ योजना और सरकारी एजेंसियों के दुरुपयोग पर चर्चा हो। लेकिन सरकार ने इसे खारिज कर दिया। हमने उनसे कहा कि हम इसके खिलाफ राजघाट पर विरोध प्रदर्शन करेंगे। लेकिन हमें इसकी भी इजाजत नहीं दी गई। हमने कहा था कि हम राष्ट्रपति को मेमोरेंडम (ज्ञापन) सौपेंगे। लेकिन इसकी भी उन्होंने इजाजत नहीं दी।

पायलट बोले- सरकारी एजेंसी का हो रहा दुरुपयोग

इस पूरे घटनाक्रम पर कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा, ‘लोकतंत्र में प्रदर्शन करना, अपनी बात रखने का पूरा अधिकार है।’ उन्होंने कहा, ‘केंद्र सरकार ने ठान रखी है कि वे एजेंसियों का गलत इस्तेमाल करके विपक्ष की आवाज़ को कुचलने और कांग्रेस के नेताओं को टारगेट करेंगे। हम पूछताछ से नहीं डर रहे हैं। केस में कोई दम नहीं है। लगातार हर बात का जवाब दिया जा रहा है. लेकिन सरकारी एजेंसी का दुरुपयोग हो रहा है।