वर्ल्ड बैंक का दावा- भारत से भी तेज रहेगी नेपाल और बांग्लादेश की आर्थिक रफ्तार

वर्ल्ड बैंक ने हाल ही में एक रिपोर्ट जारी कर कहा है कि 2019 में दक्षिण एशिया देशों में नेपाल और बांग्लादेश की आर्थिक रफ्तार भारत से तेज रहेगी। वल्र्ड बैंक की ओर से जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि चालू वित्त वर्ष में दुनियाभर की तरह दक्षिण एशिया के देशों में भी अर्थिक सुस्ती का दौर रहेगा।

0
20
world bank

नई दिल्ली। वर्ल्ड बैंक ने हाल ही में एक रिपोर्ट जारी कर कहा है कि 2019 में दक्षिण एशिया देशों में नेपाल और बांग्लादेश की आर्थिक रफ्तार भारत से तेज रहेगी। वल्र्ड बैंक की ओर से जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि चालू वित्त वर्ष में दुनियाभर की तरह दक्षिण एशिया के देशों में भी अर्थिक सुस्ती का दौर रहेगा। साथ ही रिपोर्ट में कहा गया है कि चालू वित्त वर्ष में मौद्रिक नीतियां कठोर रहने के चलते पाकिस्तान की आर्थिक वृकद्ध 2.4 फीसदी रहेगी। साथ ही पाक में राजकोषीय दबाव के कारण घरेलू मांग में कमी जारी रहेगी।

विश्व बैंक ने रिपोटबर्् में बताया है कि दक्षिण एशिया में विकास दर 5.9 फीसदी रहेगी जो कि अप्रैल 2019 के मुकाबले 1.1 फीसदी कम है। हालांकि, रिपोर्ट में छोटी अवधि में हल्की तेजी भी देखने की संभावना भी जताई गई है। माना जा रहा है कि हाल की मजबूत घरेलू मांग के चलते ग्रोथ में तेजी रही थी। लेकिन अब ये कम हुई है। जिसके कारण इस क्षेत्र में सुस्ती का दौर जारी है।

बताया जा रहा है कि दक्षिण एशिया में सबसे अधिक आयात पर असर पाकिस्तान और श्रीलंका में देखा गया है। जहां कुल आयात में 15 से 20 फीसदी की गिरावट देखी गई है। वहीं भारत मेंघरेलू मांग में गिरावट आने से पिछली तिमाही में निजी खपत 3.1 फीसदी रही। जबकि बीते साल सामान अवधि के दौरान यह 7.3 फीसदी थी। 2019 की दूसरी तिमाही में उत्पादन 1 फीसदी से भी कम हुआ है।

वर्ल्ड बैंक के दक्षिण एशियाई उपाध्यक्ष हार्टविग शैफर के मुताबिक ‘औद्योगिक उत्पादन और आयात में कमी और वित्तीय बाजार में टेंशन की वजह से दक्षिण एशियाई बाजार में आर्थिक सुस्ती देखने को मिल रही है।‘

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here