पंक्चर बनाने वाले वीरेंद्र कुमार दिलाएंगे लोकसभा सांसदों को शपथ

0
38
virendra kumar

नई दिल्ली: मोदी सरकार का पहला बजट सत्र 17 जून से शुरू होने जा रहा है। इससे पहले सरकार ने भाजपा सांसद डॉ. वीरेंद्र कुमार खटिक को प्रोटेम स्पीकर नियुक्त कर दिया है। अब वीरेंद्र कुमार संसद में नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ दिलाएंगे। संसद के निचले सदन में एक अस्थायी स्पीकर को लोकसभा में निर्वाचित होने के वरिष्ठता के आधार पर नियुक्त किया जाता है।

मध्यप्रदेश से सांसद है वीरेंद्र कुमार

डॉ वीरेंद्र कुमार मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ से सांसद है। लगातार सातवीं बार लोकसभा के सदस्य चुने गए वीरेंद्र कुमार मोदी सरकार में मंत्री भी रह चुके है। उनकी वरिष्ठता को देखते हुए उन्हें प्रोटेम स्पीकर बनाने का फैसला किया गया है।

पंक्चर बनाया करते थे

27 फरवरी 1954 को मध्यप्रदेश के सागर जिले में जन्में वीरेंद्र कुमार ने अपने जीवन में कई उतार-चढ़ाव देखे है। बचपन में परिवार के भरण-पोषण के लिए पिता के साथ साइकिल की दुकान पर पंक्चर भी बनाया करते थे। काम के साथ उनकी पढ़ाई भी जारी रही। वीरेंद्र कुमार ने अर्थशास्त्र में एमए और बाल श्रम संबंधी विषय पर पीएचडी भी की है।

1996 में पहली बार पहुंचे लोकसभा

वीरेंद्र कुमार पहली बार 1996 में सागर लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे। इसके बाद 2004 तक लगातार चार बार इस सीट का प्रतिनिधित्व किया। इसके बाद 2009 के लोकसभा चुनाव में उनकी सीट बदली गई और टीकमगढ़ से उन्हें उम्मीदवार बनाया गया। वीरेंद्र कुमार ने यहां से भी तीसरी बार जीत दर्ज की है। दलित समुदाय से आने वाले वीरेंद्र कुमार बीजेपी के अनुसूचित जाति मोर्चा के मध्य प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं और मोदी सरकार में भी मंत्री रहे है।

इतना ही नहीं वीरेंद्र कुमार जयप्रकाश नारायण के आंदोलन के दौरान 16 महीने तक जेल में भी रहे है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में कई वर्षों तक सक्रिय कार्यकर्ता व पदाधिकारी रहे हैं। इसके अलावा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, विश्व हिंदू परिषद सहित बीजेपी में भी विभिन्न पदों पर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here