श्रद्धा मर्डर केस के बाद एक तरफ जहाँ पुरे देश में दशहत का माहौल है तो वहीँ दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से एक बेहद ही हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहाँ युवती द्वारा धर्म परिवर्तन कर निकाह करने से इंकार करने पर युवक द्वारा चौथी मंजिल से धक्का दे दिया गया। जिसके बात मौके पर ही युवती की मौत हो गयी।

इसके बाद परिजनों की शिकायत के आधार पर आरोपी युवक के खिलाफ हत्या और जबरन धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी। संयुक्त पुलिस आयुक्त पीयूष मोर्दिया ने बताया कि बसंत कुंज की डूडा कॉलोनी निवासी निधि गुप्ता (19) की चौथी मंजिल से धक्का देने के कारण मौत होने की सूचना मिली थी। इस पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उसे अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। उन्होंने बताया कि पुलिस ने शव को तीन डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराया और उसकी वीडियोग्राफी भी कराई। अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है।

 

मृतका के परिजनों ने शिकायत देकर मोहल्ला निवासी मोहम्मद सुफियान पर हत्या करने और अपनी बेटी पर जबरन धर्म परिवर्तन कर निकाह करने का दबाव बनाने का आरोप लगाया है। उन्होंने बताया कि परिजनों का आरोप है कि सुफियान एकतरफा प्यार के चलते काफी समय से निधि को परेशान कर रहा था और उस पर जबरन धर्म परिवर्तन कर निकाह करने का दबाव बना रहा था। इसकी शिकायत उसके पिता से भी की जा चुकी थी।

वहीं पीड़िता की बड़ी बहन ने बताया कि आरोपी लंबे समय से उसकी बहन का परेशान कर रहा था और बार-बार उसे धर्म परिवर्तन के लिए उकसा रहा था। शिकायत के बाद भी परिजनों ने इस पर ध्यान नहीं दिया और वह उसे ऐसा करने के लिए उकसाते रहे। ऐसे में उसकी हिम्मत बढ़ गई। उन्होंने बताया कि सुफियान से परेशान होकर परिजनों ने निधि को ननिहाल भेज दिया था। उसके वापस आने के बाद उसने फिर से परेशान करना शुरू कर दिया।

Also Read : पूर्व PM Rajiv Gandhi के हत्यारों को किया रिहा, केंद्र सरकार ने पुनर्विचार याचिका की दायर

फ़िलहाल परिजनों की शिकायत के आधार पर आरोपी सुफियान के खिलाफ हत्या, जबरन धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने सहित अन्य अपराधों में मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है और जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि पुलिस परिजनों के आरोपों की जांच कर रही है और यदि उसमे कोई सच्चाई सामने आती है तो आरोपी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।