बिहार के शिव भक्त की अनूठी भक्ति, ओंकारेश्वर से उज्जैन तक कर रहा दंडवत यात्रा

बिहार बेगूसराय में रहने वाले महादेव नाम के भक्तों ने सावन के पवित्र महीने में यह तय किया कि मध्य प्रदेश के इन दोनों ज्योतिर्लिंगों की दूरी वह दंडवत प्रणाम करते हुए पूरी करेंगे.

सावन में बड़ी संख्या में शिव भक्त अपने आराध्य भोलेनाथ के प्रति श्रद्धा प्रकट करने के लिए अनेक तरीके अपनाते दिखाई देते हैं. ऐसा ही एक अंदाज बिहार के भक्त ने दिखाया है. वह ओंकारेश्वर से उज्जैन तक दंडवत यात्रा करते हुए आ रहे हैं और महाकाल को प्रणाम कर अपना संकल्प पूरा करेंगे.

बिहार बेगूसराय में रहने वाले महादेव नाम के भक्तों ने सावन के पवित्र महीने में यह तय किया कि मध्य प्रदेश के इन दोनों ज्योतिर्लिंगों की दूरी वह दंडवत प्रणाम करते हुए पूरी करेंगे. बिहार से ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग पहुंचे. वहां से दर्शन करने के बाद उज्जैन तक की दंडवत यात्रा शुरू की. सड़क मार्ग से यह दूरी सड़क मार्ग से लगभग 150 किलोमीटर है और वह लगातार 25 दिनों से महाकाल को प्रणाम करते हुए इंदौर तक पहुंच गए हैं.

Must Read- भारतीय डाक विभाग कर रहा है ढाई आखर लेखन अभियान का आयोजन, 31 अक्टूबर तक कर सकते हैं आवेदन

अपनी यात्रा को जारी रखते हुए यह शख्स अब उज्जैन रोड पहुंच चुका है और सावन पूर्णिमा के पूर्व महाकाल दर्शन का संकल्प पूरा करेगा. जब शिव के इस भक्त से यह पूछा गया कि आपकी दंडवत यात्रा के पीछे क्या कोई मनोकामना है, तो उन्होंने कहा कि मैं शिव का हूं और शिव मुझ में समाए हुए हैं. मैं उन्हें इस तरह दंडवत यात्रा के माध्यम से सिर्फ प्रणाम कर रहा हूं. महाकाल पहुंचकर जलाभिषेक कर अपनी यात्रा को पूरा करूंगा. शिव के इस पवित्र महीने में शिव भक्त की ये आस्था एक अनूठा उदाहरण है.