नई शिक्षा नीति के तहत पहली बार हो रही एग्जाम में आ सकती है परेशानी, ये है वजह

इंदौर में नई शिक्षा नीति के तहत पहली बार विभिन्न विषयों की एग्जाम होने जा रही है. चुनाव के चलते इन परीक्षाओं में बाधा आ सकती है.

Indore: इंदौर के 1 लाख स्टूडेंट्स को आने वाले समय में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. कुछ दिनों बाद जिला पंचायत और नगरीय निकाय के चुनाव होने वाले हैं. जून जुलाई के महीने में देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी की ओर से नई शिक्षा के तहत बहुत से कोर्स की एग्जाम भी होने वाली है. चुनावों के चलते परीक्षा की तारीख पर असर पड़ सकता है क्योंकि यूनिवर्सिटी के कर्मचारियों की ड्यूटी चुनाव में लगा दी जाती है. वहीं कॉलेजों को मतदान केंद्र बना दिया जाता है. यही वजह है कि एग्जाम देने वाले स्टूडेंट पर चुनाव का असर देखा जा सकता है. हालांकि यूनिवर्सिटी के अधिकारियों की ओर से कुछ जरूरी कदम उठाए गए हैं. इसके आधार पर स्टूडेंट्स की एग्जाम ली जाएगी.

नई शिक्षा नीति के तहत फर्स्ट ईयर की एग्जाम पहली बार हो रही है. एग्जाम को लेकर यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट पहले से परेशान चल रहा है. वहीं अब चुनाव में समस्या पैदा कर दी है. यूजी कोर्स में बीए, बीकॉम, बीबीए, बीएसएससी, बीजेएमसी, बीसीए सहित अन्य कोर्स की परीक्षा होनी है. इनका टाइम टेबल जल्द घोषित कर दिया जाएगा. वही पीजी के सेकंड और फोर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं जल्द शुरू होने वाली है. इनमें एमए, एमकॉम, एमएससी, एमबीए की एग्जाम होनी है. टाइम टेबल यूनिवर्सिटी की ओर से जारी कर दिया गया है.

Must Read- नूपुर शर्मा ने भाजपा और सरकार को किस मुसीबत में डाल दिया

फर्स्ट ईयर के कोर्स में कुल मिलाकर 80 हजार स्टूडेंट है जो इस बार एग्जाम देने वाले हैं. पीजी कोर्स में फोर्थ और सेकंड सेमेस्टर के 30,000 स्टूडेंट है कुल मिलाकर एक लाख से ज्यादा स्टूडेंट हैं, जो परीक्षा देने वाले है. लेकिन चुनावों का असर एग्जाम पर पड़ सकता है क्योंकि यूनिवर्सिटी के कर्मचारियों के चुनाव में लगा दी जाती है और चुनावों को मतदान केंद्र का रूप दे दिया जाता है.

नई शिक्षा नीति के तहत ही पहली बार है कि फर्स्ट ईयर के स्टूडेंट एग्जाम दे रहे हैं. 21 जून से इनकी परीक्षा शुरू करने की प्लानिंग की जा रही है स्टूडेंट की एग्जाम चुनाव की वजह से देरी से ना हो इस बात का खास ध्यान रखा गया है. यह जरूर हो सकता है कि चुनाव वाले दिन एग्जाम ना कराई जा सके. ऐसे में उस दिन होने वाली एग्जाम को आगे बढ़ा दिया जाएगा. यूनिवर्सिटी की ओर से टाइम टेबल को इस तरह बनाने की कोशिश की जा रही है जिससे स्टूडेंट्स को परेशानी ना हो. अगर कोई दिक्कत आती है तो टाइम टेबल में बदलाव कर दिया जाएगा.