आज है सावन का पहला सोमवार, जानिए पूजा विधि और महत्व

सावन का पहला सोमवार आज है। सावन के पहले सोमवार की हिंदू धर्म में बहुत महिमा है। इस दिन भगवन शिव की पूजा अर्चना की जाती है।

Pradosh Vrat 2021

सावन का पहला सोमवार आज है। सावन के पहले सोमवार की हिंदू धर्म में बहुत महिमा है। इस दिन भगवन शिव की पूजा अर्चना की जाती है। कहा जाता है कि इस दिन भगवान की सच्चे मन से पूजा करने से सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। आज के दिन सुबह से ही भक्त मंदिरों में जाकर शिवलिंग पर दूध, जल और बेलपत्र चढ़ाते हैं। इस महीने में भगवान शिव की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है।

बता दे, जो भक्त सच्चे दिन से सावन सोमवार व्रत करता है और भगवान शिव की विधिवत पूजा अर्चना करता है उसपर भोलेशंकर भगवान शिव और मां पार्वती का आशीर्वाद बना रहता है। अविवाहित लोग अगर सावन के 16 सोमवार का व्रत करें तो उन्हें योग्य जीवनसाथी की प्राप्ति होती है। सावन माह के सोमवार के दिन महिलाएं और अविवाहित कन्याएं भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए विशेष रूप से शिव-पार्वती की पूजा-पाठ, कथा और आरती करती हैं।

Also Read – 18 जुलाई 2022 : देशभर के भगवान लाइव दर्शन

सावन सोमवार 2022 की तिथियां-

सावन का पहला सोमवार- 18 जुलाई
सावन का दूसरा सोमवार- 25 जुलाई
सावन का तीसरा सोमवार- 01 अगस्त
सावन का चौथा सोमवार- 08 अगस्त
सावन का आखिरी दिन- 12 अगस्त

पूजा-विधि –

  • सावन सोमवार के दिन जल्दी उठकर स्नान करें।
  • इसके बाद भगवान शिव का जलाभिषेक करें।
  • साथ ही माता पार्वती और नंदी को भी गंगाजल या दूध चढ़ाएं।
  • पंचामृत से रुद्राभिषेक करें और बेल पत्र अर्पित करें।
  • शिवलिंग पर धतूरा, भांग, आलू, चंदन, चावल चढ़ाएं और सभी को तिलक लगाएं।
  • प्रसाद के रूप में भगवान शिव को घी-शक्कर का भोग लगाएं।
  • धूप, दीप से गणेश जी की आरती करें।
  • आखिर में भगवान शिव की आरती करें और प्रसाद बांटें।