यमुना नगर (हरियाणा) म्युनिसिपल कॉपोरेशन की टीम ने इंदौर के सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट को समझा

इंदौर। आयुक्त प्रतिभा पाल ने बताया की इंदौर देश में स्वच्छता में लगातार पांच बार देश का सबसे स्वच्छ शहर रहा है, साथ ही सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिये इंदौर नगर निगम द्वारा किये गये कार्यो को देखने देश के विभिन्न राज्यो, शहरो के जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अधिकारी लगातार इंदौर का भ्रमण कर रहे है। इसी क्रम में आज यमुना नगर (हरियाणा) म्युनिसिपल कॉपोरेशन के महापौर श्री मदनलाल चौहान व निगमायुक्त श्री अजयसिंह तोमर सहित कुल 14 सदस्यीय दल द्वारा इंदौर शहर की स्वच्छता, सॉलिड वेस्ट मेनेजमेंट प्लांट के साथ ही शहर के विभिन्न स्थानो का अवलोकन किया गया। इस अवसर पर स्वच्छ भारत मिशन के अधीक्षण यंत्री अनूप गोयल व अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

यमुना नगर (हरियाणा) म्युनिसिपल कॉपोरेशन के 14 सदस्यीय दल में महापौर श्री मदनलाल चौहान, डिप्टी मेयर श्री प्रवीण शर्मा, श्रीमती रानी कालरा, एमसी श्री अभिषक मुदगिल, श्री संकेत प्रकाश, श्रीमती सविता कम्बोज, प्रशासनिक अधिकारियो के दल में म्युनिसिपल कॉपोरेशन आयुक्त श्री अजयसिंह तोमर, डीएमसी श्री अशोक कुमार, श्री विनोद नेहरा, एओ श्री विशाल कौसिक, एई श्री वरूण शर्मा, श्री सुरेन्द्र चौपडा, श्री हरजीत सिंह, श्री अनिल जैन व अन्य द्वारा प्रातः सर्वप्रथम झोन 7 में डोर टू डोर कचरा संग्रहण व्यवस्था देखी गई। दल ने देखा कि किस प्रकार से क्षेत्र के नागरिको द्वारा अलग-अलग डस्टबीन में संग्रहित कचरा एक-एक करके निगम के डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहन में डाला जा रहा है, जिसमें वाहन का हेल्पर भी उनकी मदद कर रहा है। उन्होंने देखा कि इंदौर शहर में 3 नही अपितु 6 प्रकार का कचरा अलग-अलग संग्रहित किया जा रहा है, जिसमें नागरिक भी उनका सहयोग कर रहे है, जिस पर दल द्वारा इंदौर के नागरिको के साथ ही निगम के मैनेजमेंट की भूरी-भूरी प्रशंसा की गई। आयुक्त द्वारा कहा गया कि इंदौर ने स्वच्छता के लिये बहुत ही बेहतर कार्य प्रणाली से कार्य कर रहा है, और में निगम के अधिकारियो, कर्मचारियो के साथ इंदौर के जनप्रतिनिधि, सहयोगी संस्थाओ व जागरूक नागरिको के सहयोग से इंदौर आज देश में लगातार स्वच्छता में पांच बार नंबर वन स्वच्छ शहर बना है।

आयुक्त का निर्देश: सफाई मित्रों तक पहुंचे शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ

इसके पश्चात यमुना नगर नगर निगम के दल द्वारा मेघदूत उद्यान का अवलोकन करते हुए, देखा कि किस प्रकार से ट्रीटेड वॉटर का उपयोग सिंचाई व फाउण्टेन में किया जा रहा है। साथ ही यहां पर निगम की स्वच्छता अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभारे वाले स्वास्थ्य अधिकारी, सीएसआई व दरोगा से भी दल को अवगत कराते हुए, उनकी कार्य प्रणाली के संबंध में विस्तृत जानकारी भी दी गई।

यमुना नगर निगम के दल द्वारा स्टार चौराहा गारबेज कचरा ट्रांसर्फर स्टेशन का अवलोकन किया गया, उन्हे बताया गया कि किस प्रकार से डोर टू डोर कचरा संग्रहित होने के पश्चात यहां पर वाहनो का कचरा अलग-अलग बडे वाहनो के माध्यम से टेªचिंग ग्राउण्ड पर पहुंचाया जाता है, जहां पर गीले-सुखे व अन्य प्रकार के कचरे का निपटान किया जाता है। इसके पश्चात दल द्वारा पालिका प्लाजा स्थित कमांड सेन्टर का अवलोकन किया गया, उन्हे बताया गया कि शहर में डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहन की जीपीएस सिस्टम के माध्यम से मॉनिटरिंग की जाती है और किस प्रकार से डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहन अपने निर्धारित व समयानुसार कचरा संग्रहण कार्य को करते है।

इसके पश्चात दल द्वारा सेफी नगर जीरो वेस्ट वार्ड 73 का अवलोकन किया गया, इंदौर शहर के विभिन्न वार्डो में किस प्रकार से जीरा वेस्ट बनाया जा रहा है और जीरो वेस्ट वार्ड क्यां होता है के संबंध में एनजीओ श्री श्रीगोपाल जगताप द्वारा विस्तार से दल को भी जानकारी दी गई। उन्हे बताया गया कि किस प्रकार से जीरो वेस्ट वार्ड में गीले कचरे का निपटान घर-घर में होता है और नागरिको को इस अभियान में किस प्रकार से सहयोग रहा है। इसके पश्चात दल द्वारा देवगुराडिया स्थित टेªचिंग ग्राउण्ड, बायो सीएनजी प्लांट, ड्रायवेस्ट प्रोसेसिंग प्लांट, सी एंड डी वेस्ट प्लांट में किस प्रकार से कार्य किया जा रहा है, और इसके लाभ क्यां है के संबंध में विस्तार से दल को अवगत कराया गया। इस मौके पर स्वच्छ भारत मिशन के अधीक्षण यंत्री श्री अनूप गोयल द्वारा निगम के सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट व स्वच्छता के संबंध में विस्तार से अवगत भी कराया जावेगा।