दुनिया में ओमिक्रोन सब-वेरिएंट ने लोगो को परेशान कर दिया है। लोगो के साथ-साथ सरकारों की नीद उड़ी हुई है। वही विदेशो से भारत आ रहे यात्रियों के सैंपल ले रहे हैं। इससे ओमिक्रोन के सभी वेरिएंट की उपस्थिति का पता चला है।

मिली जानकारी के अनुसार, 324 कोविड पॉजिटिव मरिजो के जीनोम सीक्वेंसिंग जांच के लिए सैंपल लिए गए थे। जिसमें पता चला की सभी में ओमिक्रॉन सब-वेरिएंट पाया गए थे। लेकिन राहत की बात ये है कि इसमें किसी की भी जान नही गई है।

बता दें, 29 दिसंबर, 2022 से 7 जनवरी, 2023 तक, एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (IDSP) सेंटिनल साइटों ने सीक्वेंसिंग के लिए 22 भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) प्रयोगशालाओं में 324 कोविड पॉजिटिव सैंपल भेजे थे।

एयरपोर्ट पर हो रही है तुरंत जांच

विदेश से आने वाले लोगों की हलाई अड्डों पर तुरंत जांच की जा रही है। इसके लिए बीते साल 24 दिसंबर से आदेश भी जारी कर दिए थे। तब से विभिन्न एयरपोर्ट पर 7786 उड़ानों से 13,57,243 अंतर्राष्ट्रीय यात्री भारत आए, जिनमें से 29,113 रैंडमली चयनित यात्रियों का RT-PCR के जरिए परीक्षण किया गया।

50 सैंपल से चला पता

कुल 183 सैंपल पॉजिटिव पाए गए जिन्हें बाद में 13 INSACOG प्रयोगशालाओं में संपूर्ण जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजा गया। करीब 50 सैंपल की सीक्वेंसिंग से ओमिक्रोन और इसके सब-वेरिएंट्स का पता चला। XBB (11), BQ.1.1 (12) और BF7.4.1 (1) अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के इन नमूनों में पाए गए मुख्य वेरिएंट थे।

देश में कोरोना की स्थिति

गौरतलब है कि, देश में सोमवार (9 जनवरी) को कोरोनावायरस (Coronavirus) के 170 नए केस मिले हैं। जिसके बाद एक्टिव केसों की संख्या 2,371 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, अब कुल मामलों की संख्या 4.46 करोड़ है. वहीं कारोना से कुल मौत की संख्या 5,30,721 है।