IDA संचालक मण्डल की बैठक संपन्न, कई महत्वपूर्ण निर्णयों पर लगी मुहर

इन्दौर। इन्दौर विकास प्राधिकरण संचालक मण्डल(Indore Development Authority Board of Directors) की बैठक 7 मार्च 2022 सोमवार को सम्पन्न हुई। इस बैठक में जयपालसिंह चावड़ा, अध्यक्ष, मनीष सिंह, कलेक्टर, इन्दौर, सुश्री प्रतिभा पाल, आयुक्त, नगर पालिक निगम, इन्दौर, श्री बी.के. चैहान, मुख्य अभियंता, लोक निर्माण विभाग, इन्दौर, श्री नरेन्द्र पण्डवा, वन संरक्षक, इन्दौर, श्री एस.के. मुद्गल, संयुक्त संचालक, नगर तथा ग्राम निवेश विभाग, इन्दौर, श्री अजय श्रीवास्तव, अधीक्षण यंत्री, पी.एच.ई. विभाग, इन्दौर एवं श्री विवेक श्रोत्रिय, मुख्य कार्यपालिक अधिकारी, इ.वि.प्रा., इन्दौर उपस्थित थे।

इन्दौर विकास योजना के अंतर्गत टी.पी.एस.-01, टी.पी.एस.-03, टी.पी.एस.-04, टी.पी.एस.-05 एवं टी.पी.एस.-08 के धरातल पर क्रियान्वयन करने के उद्देश्य से प्रारूप योजनाए तैयार की गई उक्त प्रारूप योजनाओं पर भूमिस्वामियों के दावे आपत्तियों को विधिवत् सुनवाई कर आवश्यकतानुसार योजनाओं को उपांतरण किया गया है। इस प्रकार तैयार की गई योजनाओं को अनुमोदन बोर्ड द्वारा किया गया।

भूमि स्वामी को उनकी भूमि पर ही समुचित प्रतिकर देने के उद्देश्य से नगर तथा ग्राम निवेश (संशोधन) अधिनियम-2019 की धारा 50(3) के अंतर्गत प्रकाशित प्रारूप योजना पर प्राप्त आपत्ति/सुझावों पर धारा 50(9) के अन्तर्गत गठित समिति द्वारा विचार किया गया। प्राप्त आपत्तियों/सुझाव पर विचार उपरांत समिति द्वारा की गई अनुशंसाओं को प्रारूप योजना में समाविष्ट कर अंतिम निर्णय संचालक मण्डल द्वारा किया गया। योजनावार समाविष्ट भूमि एवं अन्य विवरण नीचे देखे जा सकते हैं

must read: ग्राहकों को बड़ा झटका, साबुदाने के दाम में आया उछाल, इतना हुआ महंगा

 

इस प्रकार इन योजनाओं में लगभग 29 किलोमीटर सड़को का निर्माण किया जावेगा। इन योजनाओं को आकार लेने के साथ ही एक नया इन्दौर आकार लेना शुरू कर देगा।

प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री चावड़ा ने बताया कि आई.डी.ए. द्वारा भू-धारको को 50 फीसदी विकसित प्लाट दिये जावेंगे। योजनाओं को क्रियान्वित करने के साथ ही इनके विकास कार्य शुरू कर दिये जावेंगे। इस बाबद संचालक मंडल की बैठक में पृथक से 1251 करोड़ की प्रशासकीय स्वीकृति पूर्व में ही दी जा चुकी है।

संचालक मण्डल द्वारा योजना क्रमांक 139-169ए (एम.आर.-10) ग्राम सुखलिया में आय.एस.बी.टी. के संबंध में माननीय मुख्यमंत्रीजी की घोषणा के परिपालन में निर्णय लेते हुए उक्त का नामकरण टंट्या भील बस स्टेण्ड किये जाने का निर्णय लिया गया।

संचालक मण्डल द्वारा योजना क्रमांक 151 एवं 169-बी में शेष कार्यो हेतु तृतीय चरण के विकास कार्यो हेतु प्राप्त निविदाओं में से न्यूनतम निविदादाता की निविदा स्वीकृत की गई। उक्त निविदा स्वीकृति से सुपर काॅरिडोर पर विकास कार्य अतिशीघ्र गति आ सकेगी।

must read: एमपी के दौरे पर आएंगे बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा

एक अन्य महत्वपूर्ण निर्णय में इन्दौर शहर के खजराना चैराहे पर फ्लाय ओव्हर निर्माण हेतु गैर योजना मद में रूपये 57.50 करोड़ $ जी.एस.टी. की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई। उल्लेखनीय है कि उक्त फ्लाय ओव्हर दो भुजा वाला 6 लेन प्रस्तावित है। यह फ्लाय ओव्हर मेट्रो के समानांतर होकर इसकी लम्बाई 600 मीटर होगी। एक अन्य निर्णय में लवकुश चैराहे पर योजना मद से एम.आर.-10 के समानांतर फ्लाय ओव्हर बनाये जाने का निर्णय लिया गया, जिसकी लागत लगभग राशि रूपये 80.00 करोड़ प्रस्तावित है। इस ब्रिज की नीचे से ही एम.आर.-12 मार्ग के निकलने हेतु स्थान उपलब्ध होगा। यहाॅ यह भी उल्लेखनीय है कि इन फ्लाय ओव्हर का निर्माण हाल ही में प्राधिकरण में सम्पन्न जन प्रतिनिधियों की बैठक में प्राप्त सुझावों पर लिये गये निर्णय अनुसार ही प्रस्तावित होगा।