इंदौर की रूचि सोया को पतंजलि द्वारा टेकओवर करने पर स्वामी रामदेव ने कही ये बात

0

खाद्य तेल में भारत आत्म निर्भर हो ताकि हमे विदेशों पर निर्भर नही होना होगा। खाद्य तेल में भारत के आत्म निर्भर होने से देश की समृद्धि बढ़ेगी और करेंसी मजबूत होगी। इंदौर कई दृस्टियो से ऐतिहासिक है, इंड्रस्टी की बात की जाए तो इंदौर की रुचिसोया खाद्य तेल में मामले में सबसे अग्रणी कंपनी है। रुचि सोया का साम्राज्य दिवालिया होने की कगार पर था पर पतंजलि ने दिवालिया होने से बचा लिए।

5 दशक जिस कंपनी के हो गए उसने कीर्तिमान बनाया सोयाबीन के भाव रुचि सोया से खुल जाए करते थे 36 लाख टन आयल प्रोडक्शन के साथ रुचि सोया कंपनी नंबर वन है. 7 से 10 करोड़ लोग रुचि सोया का तेल खाते है ।
हम 5000 करोड़ रुपये इसमे खर्च कर रहे है, ये निवेश केवल व्यापार के लिए नही समाज के लिए कर रहे है,
10 हजार करोड़ रुपये की चेरिटी हम कर चुके है और आगे 1 लाख हजार की चेरिटी करेंगे ।पतंजलि और रुचि दोनो के साथ मिलने पर ब्रांड पोजिशन में भी पतंजलि और रुचि सोया एक बड़ा ब्रांड हो गया है।

चारो तरफ आर्थिक मंदी के स्वर है पर रोना रोने के बजाए ये सोचना होगा कि आगे कैसे बड़ा जाये, सरकार को और कड़े निर्णय लेने होंगे तभी देश मजबूत होगा। पाम देश मे 2 लाख हेक्टेयर में है और ये 20 लाख हेक्टेयर हो जाएगा तो बाहर से तेल नही लेना पड़ेगा। हेल्थ में नेचरल ऑइल यूज करें, तिल का तेल स्वास्थवर्धक होता है, स्वामी रामदेव जी ने बताया कि हम नए प्रोडक्ट भी लॉन्च करेंगे सफोला गोल्ड की कॉम्पिटिशन में न्यूट्रिला गोल्ड लेकर आएंगे।