इंदौर। क्राइम ब्रांच के निलंबित टीआई धनेंद्र सिंह भदौरिया को प्रशासनिक आधार पर तत्काल प्रभाव से निरीक्षक(निलंबित) की निलंबन अवधि में मुख्यालय रक्षित केंद्र इनोड्रे से रक्षित केंद्र जिला उज्जैन के लिए स्थानांतरित कर दिया गया. हालांकि रविवार सुबह इसका आदेश जारी किया गया था कि अतिरिक्त पुलिस आयुक्त राजेश हिगणकर ने यह आदेश जारी किया है इस आदेश में लिखा है कि धनेद्र सिंह भदौरिया थाना प्रभारी अपराध शाखा नगरीय पुलिस इंदौर के विरुद्ध अभद्र व्यवहार एवं अवैध वसूली संबंधी शिकायतें प्राप्त होने के संबंध में तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है, इन्हे रक्षित केंद्र संबंद्ध किया जाता है।

गौरतलब है कि शनिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीएस और डीजीपी के साथ ही प्रदेश के जिलों के प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों की बैठक ली थी जिसमें उन्होंने भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टॉलरेंस, इंदौर के एक टीआई के भ्रष्टाचार का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े प्रदेश के आईजी और एसपी से कहा लिस्ट बनाइए किसी को छोड़ना मत और एडीजी इंटेलिजेंस को जानकारी भेजिए।

Also Read: महापौर भार्गव ने समीक्षा बैठक में विकास कार्यो की गति बढाने तथा कार्य को समय सीमा में पूर्ण करने के दिए निर्देश

मौका आने पर ऐसे भ्रष्टाचारियों के यहां हम ईओडब्ल्यू के छापे भी डलवाएंगे। मुख्यमंत्री यहां तक कह गए कि तत्काल कार्रवाई करिए इस तरह भ्रष्टाचार का गदर मचाने वाले टीआई पर। हालांकि उन्होंने इस दौरान इस टीआई का नाम नहीं लिया था लेकिन साफ समझा जा सकता था कि इशारा किसकी तरफ़ था।