सुखोई 30-मिराज 2000 क्रैश : ग्वालियर से उड़े, एक मुरैना तो दूसरा भरतपुर में गिरा, जानिए भारत के लिए कितना बड़ा नुकसान

Morena। मध्य प्रदेश के मुरैना में हुए हादसे में भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) के दो फाइटर प्लेन सुखोई 30 और मिराज 2000 क्रैश हो गए हैं। अभ्यास के लिए दोनों विमानों ने ग्वालियर एयरबेस से उड़ान भरी थी। मुरैना के पास पहाड़गढ़ विकासखंड में जंगल के ऊपर हवा में दोनों विमान टकरा गए और उनमें आग लग गई।

हवा में आग का गोला बन चुके विमानों में से एक मध्य प्रदेश और दूसरा पड़ोसी राज्य राजस्थान में जा गिरा। दोनों में से एक विमान मध्य प्रदेश के मुरैना जिले और दूसरा राजस्थान के भरतपुर जिले में जा गिरा। सूचना मिलते ही राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया गया। मुरैना कलेक्टर ने जानकारी देते हुए बताया कि हादसा सुबह साढ़े पांच बजे हुआ।

हादसे के वक्त सुखोई 30 में दो पायलट और मिराज 2000 में एक पायलट सवार था। जानकारी सामने आ रही है कि, 1 पायलट की मौत हो गई है। दो पायलट तो सही सलामत मिल गए हैं जबकि दूसरे विमान के एक पायलट के बॉडी पार्ट्स मिले हैं। साथ ही एक विमान के कुछ हिस्से राजस्थान के भरतपुर में भी गिरे हैं।

Also Read – ओंकारेश्वर जा रहे 35 से ज्यादा दर्शनार्थियों की गाडी भेरू घाट में पलटी, हादसे में 1 की मौत, 13 घायल

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ने मुरैना कलेक्टर को बचाव और राहत कार्य के लिए जरूरी निर्देश दिए हैं। शिवराज ने ट्वीट में लिखा, ”मुरैना के कोलारस के पास वायुसेना के सुखोई-30 और मिराज-2000 विमानों के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर अत्यंत दुखद है। मैंने स्थानीय प्रशासन को त्वरित बचाव और राहत कार्य में वायुसेना के सहयोग के निर्देश दिए हैं। विमानों के पायलट के सुरक्षित होने की ईश्वर से कामना करता हूं।”

जानकारी के लिए आपको बता दे कि, सुखोई 30 दुनिया के सबसे ज्यादा हथियारों से लैस फाइटर प्लेन में शुमार है। सुखोई 30एमकेआई के एक विमान की कीमत करीब 62 मिलियन डॉलर है। वहीं बात करें मिराज 2000 फाइटर जेट की तो यह भारतीय वायुसेना के टॉप फाइटर जेट में से एक है। मिराज 2000 फाइटर प्लेन की कीमत करीब 167 करोड़ रुपए है।