तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में एक 11वीं कक्षा की नाबालिग छात्रा ने यौन शोषण का शिकार होने के बाद आत्महत्या कर ली। और sucide नोट में लिख दिया कि लड़की केवल मां के गर्भ और श्मशान में ही सुरक्षित रहती है।

शनिवार को जब पीड़िता की मां बाहर से लौटकर घर आई तो उसने घर पर अपनी बेटी को मृत पाया। छात्र ने कमरे का गेट अंदर से बंद कर के रखा था, जिसे तोड़ने के बाद उसके आत्महत्या करने के बारे में पता चल पाया।

छात्रा ने अपने सुसाइड नोट में यहां तक लिखा हैं कि अब तो स्कूल भी लड़कियों के लिए सुरक्षित जगह नहीं रहें हैं। शिक्षक भी भरोसे लायक नहीं रहें। छात्रा ने आगे लिखा कि मानसिक रूप से परेशान होने की वजह से मैं न तो पढ़ पा रही हूं और न ही सो पा रही हूं। हर मां-बाप को अपने बच्चों और लड़कों को सिखाना चाहिए कि लड़कियों का सम्मान करें। और आखिर में छात्रा ने अपने रिश्तेदारों का जिक्र करते हुए लिखा कि अब यौन उत्पीड़न बंद करो। मुझे न्याय दो।

हालांकि इस मामले में पुलिस ने एक छात्र को गिरफ्तार भी किया हैं। और अरेस्ट कॉलेज स्टूडेंट ने अपना गुनाह स्वीकार भी लिया है। उसने पुलिस को बताया कि उसके छात्रा के साथ शारीरिक संबंध थे। और वह पिछले दो हफ्ते से उसे परेशान भी कर रहा था।