संभाग के सभी जिलों में माफियाओं के विरूद्ध होगी सख्त कार्यवाही : त्रिपाठी

0
35

इंदौर: इंदौर संभाग में आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत सभी पंचायतों में हर सप्ताह आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत जनमित्र शिविर लगाये जाएंगे। इसके साथ ही संभाग के सभी जिलों में माफियाओं के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी। संभाग के जिलों में 90 प्रतिशत से अधिक राजस्व प्रकरणों का निराकरण हर हाल में सुनिश्चित किया जायेगा। इस संबंध में संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने सभी कलेक्टरों को प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश आज सम्पन्न हुई कलेक्टर कान्फ्रेंस में दिये।

कलेक्टर कान्फ्रेंस में संभागायुक्त श्री त्रिपाठी ने कहा कि आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम को और अधिक प्रभावी बनाने के लिये जनमित्र शिविर आयोजन का सिलसिला अभिनव पहल के तहत शुरू किया गया है। अभी संभाग की चयनित पंचायतों में यह शिविर आयोजित किये जा रहे हैं। उन्होंने निर्देश दिये कि यह शिविर अब हर सप्ताह हर पंचायत में निर्धारित दिन आयोजित किये जायें। यह सुनिश्चित किया जाये कि इन शिविरों में मैदानी कर्मचारी अनिवार्य रूप से उपस्थित रहें। मैदानी कर्मचारी ग्रामीणों की समस्याओं को सुनें और उनके लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत चिन्हित सेवाओं के आवेदन लेकर उनका निर्धारित समयसीमा में निराकरण करवायें। इस अवसर पर श्री त्रिपाठी ने सभी कलेक्टरों से कहा कि संभाग के सभी जिलों में माफियाओं के विरूद्ध सख्ती से कार्यवाही की जाये। माफियाओं के विरूद्ध कार्यवाही के लिये 11 विषय चिन्हित किये गये हैं। उन्होंने कहा कि इन विषयों के आधार पर बड़े माफियाओं का चयन कर शीघ्र ही कार्यवाही शुरू करें। इस कार्यवाही का प्रभाव आमजन को दिखायी भी देना चाहिये।

उन्होंने संभाग में खाद्य पदार्थों तथा कृषि आदानों में मिलावट करने वालों के विरूद्ध सख्ती से कार्यवाही करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि शुद्ध के लिये युद्ध अभियान के तहत गत दिनों जिनके विरूद्ध अर्थदण्ड किया गया है, उनसे अर्थदण्ड की राशि आरआरसी जारी कर वसूल की जायें। कृषि आदानों में मिलावट करने वाले जिन प्रतिष्ठानों के विरूद्ध लायसेंस निलंबन की कार्यवाही की गई है, उनके प्रकरणों में शीघ्र सुनवाई कर लायसेंस निलंबन की कार्यवाही की जाये। खाद की कालाबाजारी करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि खाद की सुगम उपलब्धता के लिये हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं। संभाग में कहीं भी खाद की बड़ी समस्या नहीं है। 20 हजार मेट्रिक टन यूरिया संभाग में उपलब्ध है।

बैठक में संभागायुक्त श्री त्रिपाठी ने बताया कि अभिनव पहल के तहत नदी पुर्नजीवन का कार्य शुरू किया गया है। इसके तहत धार जिले में खुजा तथा उरी, झाबुआ में पम्पावती, खण्डवा में कावेरी और रूपारेल, खरगोन में रूपारेल, बड़वानी में डेब और अलीराजपुर जिले में अनखड़ नदियों का चयन कर वहां नदी को पुर्नजीवित करने के कार्य शुरू किये गये हैं। उन्होंने संभाग के धार और खण्डवा में इस योजना के तहत हो रहे कार्यों की सराहना की और कहा कि इस तरह के कार्य संभाग के अन्य जिलों में भी शुरू किये जाएंगे।

संभागायुक्त श्री त्रिपाठी की पहल पर संभाग में कुपोषण को दूर करने के लिये किये जा रहे प्रयासों की जानकारी बैठक में दी गई। बैठक में बताया गया कि इसके अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। इन प्रयासों से अलीराजपुर जिले में 71 तथा इंदौर में 72 प्रतिशत कुपोषित बच्चों का वजन 400 ग्राम या इससे अधिक बढ़ गया है। ग्रेड परिवर्तन में भी अच्छे परिणाम मिल रहे हैं। ऐसे बच्चे जिनके वजन में कोई सुधार नहीं हो रहा है, उनका गहनता से परीक्षण करने के निर्देश संभागायुक्त ने दिये। उन्होंने कहा कि परीक्षण के दौरान अन्य बीमारियाँ पाये जाने पर उनका समुचित उपचार कराया जाये।

राज्य शासन की महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री गौसेवा योजना की जानकारी देते हुए बैठक में बताया गया कि इस योजना के तहत संभाग में 54 गौशालाओं का निर्माण स्वीकृत किया गया है। इसमें से 50 गौशालाओं का निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। इसमें से आठ का निर्माण पूर्ण हो गया है, 42 गौशालाओं का निर्माण कार्य प्रगति पर है। उन्होंने बनने वाली सभी गौशालाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने के लिये जिलेवार कार्ययोजना बनाने के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि गौशालाओं के निर्माण के लिये जिन संस्थाओं का चयन किया जा रहा है, उन्हें संभाग में सफल रही गौशालाओं में भेजकर प्रशिक्षण दिलाया जाये। उन्होंने गौशालाओं के संचालन का जिम्मा स्वयंसहायता समूह को सौंपने के निर्देश दिये।

बैठक में संभागायुक्त ने संभाग में आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के रिक्त पद भरने की कार्यवाही को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने उत्कृष्ट शालाओं के त्रैमासिक परीक्षा परिणामों, गणवेश वितरण, साइकिल वितरण, शासकीय अस्पतालों में दवाइयों के वितरण और निर्धारित जाँच के प्रगति की जिलेवार समीक्षा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here