Breaking News

बच्चो के स्टडी रूम में रखे इन बातों का ध्यान, पढाई में लगेगा मन

Posted on: 21 Jun 2018 10:46 by shilpa
बच्चो के स्टडी रूम में रखे इन बातों का ध्यान, पढाई में लगेगा मन

नई दिल्ली : आजकल बच्चें पढने से ज्यादा खेलने में इंटरेस्टेड रहते है। और टी.वी. मोबइल के ज़माने में तो और भी मुश्किल आती है। यह सिर्फ आपके घर का नहीं बल्कि कई घरों का यही हाल है। अगर आपके घर में भी यही हाल है तो भी घबराने की आवश्यकता नही है । और अगर आप डांटकर या जोर देकर पढ़ाने की कोशिश करेंगे तो वो पढाई से और दूर हो जायेंगे। इसलिए जरूरी है कि आप समझदारी से काम लें और कुछ ऐसे उपायों को अपनाएँ जिससे आपके बच्चे का मन पढ़ाई में लगने लगे और वो खुद अपनी पढाई पर ध्यान देने लगे। आज हम ऐसे ही कुछ ख़ास वास्तु उपायों के बारे में बताएँगे जो इस काम में आपकी बहुत मदद करते है। आइये जानते हैं उन उपायों के बारे में।

1. तोता पालने से बुध ग्रह की अनुकूलता बढ़ती है। कुछ ही दिनों में आपको इसका परिणाम दिखाई देगा कि आपके बच्चे का मन पढ़ाई के प्रति जागृत हो गया है। उत्तर दिशा में हरे रंग के तोते का एक पोस्टर भी लगा सकते है। वास्तु शास्त्र के अनुसार तोते की फोटो को उत्तर दिशा में लगाने से आपके बच्चों की पढ़ाई में रूचि बढ़ने लगेगी, साथ ही उसके स्मरणशक्ति में भी बढ़ोतरी होगी।अब वह खेलने-कूदने के साथ-साथ पढ़ाई में भी उतनी ही दिलचस्पी लेगा।

2. अपने अध्ययन कक्ष में मां सरस्वती का छोटा-सा चित्र लगाएं। पढ़ने के लिए बैठने से पूर्व माता के समक्ष कपूर का दीपक जलाएं अथवा अगरबत्ती जलाकर हाथ जोड़ कर माता से प्रार्थना करें। फिर पढ़ाई शुरू करें। यदि स्टडी रूम में अधिक बच्चे पढ़ें तो उस रूम में हंसते हुए बच्चों के चित्र लगाना चाहिए।

3.आप बच्चे को खाने में नमकीन की जगह मीठा खिलाएं, इससे बच्चे का आलस दूर होता है।ज्यादातर बच्चे आलस के कारण अपनी पढाई में ध्यान नही दे पाते.

4. एक थाली में केसर में गंगाजल मिलाकर घिस ले उस से स्वस्तिक का चिह्न बनाएं। सामने शुद्ध घी का दीपक जला कर रखें। मां सरस्वती की स्तुति करें। इसके बाद थाली में जल मिलाकर गिलास में डालकर पी लें। ऐसा करने से शिक्षा के क्षेत्र में पूर्ण उन्नति होती है।

5.जब भी आप पढाई करने बैठे तो उससे पहले 5 तुलसी के पत्तों को अपने मुहँ में रखें, इस तरह आपकी एकाग्रता बढती है और भगवान गणेश भी आपसे खुश होते है और खुश होकर वे आपको ज्ञान, बुद्धि और सफलता का आशीर्वाद देते है।

6.एकाग्रता बढाने के लिए आपको एक दीपक को जलाना है और बच्चों को उसकी लौ पर अपना ध्यान केन्द्रित करने का बोले जब तक उसकी आँखों में आंसू ना आ जाये .इसे त्राटक योग कहते है .यह एक बहुत शक्तिशाली योग है ये साधना मन और बुद्धि दोनों को एकाग्र करती है व नेत्र रोगों और आलस को दूर करती है।

7.बच्चों को मीठा दही नियमित रूप से दें।उन्हें पौष्टिक भोजन दे।  जंक फ़ूड ना दे जो बच्चों को आलसी बनाने के साथ ना जाने कौनसी बिमारिया दे जाते है। कोल्ड्रिंक की जगह घर के बने शर्बत दे ।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com