‘बाहुबली’ की बेटी… इसलिए 3 मिनट में अखिलेश ने हॉं कर दी

नई दिल्ली : यूपी में बाहुबलियों का राजनीतिक  दलों में अभी भी कितना वर्चस्व है इसका उदाहरण एक बार उस वक्त सामने आया है जब सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने एक बाहुबली नेता की बेटी को टिकट देने में तीन मिनट भी नहीं लगाए। जिसका यहां उल्लेख हो रहा है वह रूपाली दीक्षित है और उसे सपा ने आगरा की फतेहाबाद सीट से उम्मीदवार बनाया है।

यह भी पढ़े : भगवंत के लिए गांव-गांव घूम रही मॉं और बहन

गौरतलब है कि रूपाली आगरा के बाहुबली रहे अशोक दीक्षित की बेटी है और अखिलेश ने उसे टिकट देने के लिए ज्यादा देर नहीं की। हालांकि अखिलेश को अन्य कुछ नेताओं की नाराजगी जरूर झेलना पड़ रही है क्योंकि जिन नेताओं को टिकट हांसिल करने के लिए पसीना आ गया, उन्हें रूपाली का मामला नागवार गुजर रहा है।

उच्च शिक्षित है
भले ही रूपाली बाहुबली अशोक दीक्षित की बेटी हो लेकिन वह उच्च शिक्षित है। बताया गया है कि उसने लंदन से एमबीए किया है और फिर बाद में दुबई की एक मल्टीनेशनल कंपनी में भी उसने नौकरी की। अब वह राजनीति के मैदान में उतरी है और उसकी मंशा फतेहाबाद से जीत हांसिल करने की है।

यह भी पढ़े : RRB NTPC Protest: प्रदर्शनकारी अभ्यर्थियों ने ट्रेन में लगाई आग, कमेटी गठित

शर्मा को बदला अखिलेश ने
रूपाली के कारण अखिलेश ने इस सीट से राजेशकुमार शर्मा को बदला। पहले पार्टी ने शर्मा को प्रत्याशी बनाया था और उन्होंने अपने प्रचार की शुरूआत भी कर दी थी लेकिन करीब 30 घंटे बाद ही रूपाली को शर्मा की जगह प्रत्याशी बनाने का ऐलान कर दिया गया। बता दें कि रूपाली के पिता समेत उनके परिवार के 4 लोग हत्या के एक मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे हैं।

यह वजह है टिकट मांगने की
जानकारी मिली है कि रूपाली ने अखिलेश से मुलाकात की थी और यह बताया था कि  वह बीजेपी उम्मीदवार छोटेलाल वर्मा के खिलाफ सपा से चुनाव लड़ना चाहती है। इसका कारण उसने यह भी बताया था कि वर्मा ने जो आपत्तिजनक बयान दिया है उसके खिलाफ वह मैदान में उतरकर उन्हें जवाब देना चाहती है। रूपाली की बात सुनकर अखिलेश ने भी देर नहीं लगाई और तीन मिनट की मुलाकात में ही उसका टिकट पक्का कर दिया।