Breaking News

देंखे क्या कहती है आपकी राशि नौकरी को लेकर | See what your Zodiac Sign say for your Career

Posted on: 11 May 2019 18:12 by rubi panchal
देंखे क्या कहती है आपकी राशि नौकरी को लेकर | See what your Zodiac Sign say for your Career

आज के समय में रोजगार के लिए कई बार ठेरों डिग्री भी काम नहीं आती। कई बार हम कड़ी मेहनत करते है लेकिन फिर भी हमे सफलता हाथ नहीं आती। हमारे करियर को लेकर यदि हम अपनी राशि या कुडली के अनुसार व्यवसाय का चयन करते है तो हमारी सफलता की संभवना ज्यादा रहती है।

यह इसलिए संभव है क्योंकि ज्योतिष शास्त्र व्यक्ति की रुचि, बौद्धिक प्रतिभा और उसकी वास्तविक क्षमता का सटीक अध्ययन उसकी जन्म कुंडली के आधार पर करता है। जन्मपत्रिका में दसवाँ भाव कर्म का भाव होता है। यह भाव हमारे कर्म क्षेत्र के बारे में बताता है।

अपनी राशि के अनुसार ऐसे करे व्यवसाय का चयन

मेष

मेष राशि वाले जातकों का स्वामी मंगल ग्रह होता है। मंगल साहस और ऊर्जा का कारक है। मेष राशि वालों के लिए इंजीनियरिंग, सैन्य और पुलिस क्षेत्र सही रहता है। इसके अलावा वकालत, चिकित्सक, ड्राइविंग, जौहरी और कम्प्यूटर क्षेत्र जैसे व्यवसाय में भी आप सफल होगें।

वृषभ

वृषभ राशि का स्वामी शुक्र है। ज्योतिषी के अनुसार शुक्र ग्रह दाम्पत्य जीवन, पार्टनर, वैभव आदि का कारक होता है। इसलिए वृष राशि के जातकों के लिए कला सें जुड़े व्यवयाय उत्तम रहते है। आप विलासिता की वस्तुएँ, पेंटिंग, गायक, नृत्य, संगीत, सिनेमा, अभिनय, फैशन आदि क्षेत्र में सफलता पाने योग्य होतेे हैं। इसके अलावा आपके लिए कृषि, धातु, होटल आदि से संबंधित व्यवसाय शुभ होता है।

मिथुन

बुध ग्रह मिथुन राशि का स्वामी होने के साथ यह ग्रह संवाद, गणित, कॉमर्स और बुद्धि का कारक होता है। मिथुन राशि वालों को बैंकिंग, लिपिक, लेखन, मीडिया रिपोर्टर, संपादन, भाषा विशेषज्ञ अनुवादक के क्षेत्र में करियर बनना चाहिए।

कर्क

कर्क राशि का स्वामी चंद्रमा है। चंद्रमा मन और माता का कारक होता है। कर्क राशि वाले जल व काँच से सबंधित कार्यों में सफलता पाते हैं। इसलिए आपको शील पेय, लांडरी, नाविक, डेयरी फार्म, होटल, कारोबार, बर्फ, जहाज, रसायन विज्ञान सुगंधित पदार्थ, अगरबत्ती, फोटोग्राफी, चित्रकारी, पुरातत्व, इतिहास सामाजिक कार्यकर्ता आदि व्यवसाय में करियर बनाना चाहिए।

सिंह

सिंह राशि का स्वामी सूर्य है। हिन्दू ज्योतिष के अनुसार सूर्य ग्रह पद-प्रतिष्ठा, आत्मा, पिता, लीडर आदि का कारक होता है। सिंह लग्न के जातकों को राजनयिक, प्रशासनिक, अधिकारी वर्ग, शासकीय पद पर कार्य करना चाहिए। इसके अलावा औषधि, स्टाक एक्सचेंज कपड़ा, रूई, कागज, स्टेशनरी, घास, फल से संबंधित व्यवसाय में भी आप आगे जा सकते है।

कन्या

कन्या राशि का स्वामी ज्योतिष में बुध ग्रह होता है। बुध ग्रह संवाद, बुद्धि, वाणी, गणित, ज्योतिष आदि का कारक होता है। इसलिए कन्या राशि के जातकों को ज्योतिष, वायु, अध्ययन, अध्यापन, शिक्षक, खुदरा, विक्रेता, लिपिक, रुपयों का लेन-देन, स्वागतकर्ता, बस ड्राइवर, रेडियों-दूरदर्शन के कलाकार, नोटरी, कम्प्यूटर आदि क्षेत्रों में व्यवसाय चुनना चाहिए।

तुला

ज्योतिषी की नजर से तुला राशि का स्वामी शुक्र है। शुक्र ग्रह योवन, सुंदरता, आभूषण, ऐश्वर्य, काम शास्त्र आदि का कारक होता है। तुला राशि के जातकों को मनोचिकित्सक, अन्वेषक, जासूस, बही खाता रखने वाला, खजांची, बैंक क्लर्क, टाइपिस्ट, लेखा परीक्षक, पशुओं से उत्पन्न वस्तुएं जैसे दूध, घी, ऊन आदि का कारोबार शुभ माना जाता है।

वृश्चिक

वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल ग्रह है। मंगल ग्रह ऊर्जा, साहस, मकान, कारक है। इसलिए वृश्चिक राशि के जातकों को व्यवसाय के लिए केमिस्ट, डॉक्टर, वकील, इंजीनियर, भवन निर्माण, मार्केटिंग, देश सेवा, टेलीफोन, विद्युत खनिज तेल, नमक, औषधि, घड़ी, रेडियो, दार्शनिक, जासूस आदि क्षेत्रों में कोशिश कर सकते है।

धनु

धनु राशि का स्वामी गुरु है। बृहस्पति ग्रह ज्ञान, सुख, देवता, मित्र, पुत्र कारक है। धनु राशि के जातकों के लिए अध्यापन, लेखक, संपादक, शिक्षा विभाग, कानून, वकालत, लेखन, कार्य, क्लर्क, उपदेशक, स्वतंत्रता सेनानी, दार्शनिक, धर्म सुधारक, प्रकाशन, दलाल, आयात-निर्यात, खाद्य पदार्थ, चमड़े का व्यापार, बैंकर जैसे क्षेत्र में सफलता के ज्यादा आसार रहते है।

मकर

ज्योतिष विज्ञान के मुताबिक शनि ग्रह मकर राशि का स्वामी होता है। शनि ग्रह शस्त्र, यात्रा, चाकरी, भैंस, ऊँट, घोड़ा, हाथी, शिल्प, नीलम आदि का कारक होता है। मकर राशि वालों को प्रबंधन, बीमा विभाग, बिजली, कमिशन, मशीनरी, ठेकेदारी, सट्टा, आयात-निर्यात, रेडीमेड कपड़ा, राजनीतिक, खिलौना, खनन, वन उत्पाद, बागवानी क्षेत्र में अपना हाथ आजमाना चाहिए।

कुंभ

कुंभ राशि का स्वामी शनि है। शनि को शस्त्र, यात्रा, चाकरी, शिल्प, नीलम आदि का कारक माना गया है। कुंभ राशि वालों को शोध कार्य, शिक्षण कार्य, ज्योति-तांत्रिक, प्राकृतिक, उपचारक, दार्शनिक, चिकित्सकीय, कम्प्यूटर, वायुयान, मैकेनिक, बीमा, ठेकेदारी आदि क्षेत्र में सफलता मिलेगी।

मीन

मीन राशि का स्वामी गुरू है। ज्योतिष बृहस्पति ग्रह को गुरु, ज्ञान, सुख, देवता, मित्र, पुत्र आदि का कारक माना जाता है। इसलिए मीन राशि के जातकों को लेखन, सम्पादन, अध्यापन, लिपिक, पानी, अनाज, दलाली, शेयर, मछली, कमीशन, एजेंट, आयात निर्यात, कोरियोग्राफी आदि क्षेत्र में अपना व्यवसाय चुनना चाहिए।

Read more : Amazon के मालिक जेफ अब चांद से निकालेंगे ईधन

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com