153 देशों के वैज्ञानिकों ने किया जलवायु आपातकाल का एलान

0
47

नई दिल्ली: अमेरिका पेरिस समझौते से बाहर होने की औपचारिक घोषणा कर चुका है. वहीं दूसरी ओर 153 देशों के 11 हज़ार से ज्यादा वैज्ञानिकों ने जलवायु आपातकाल का एलान कर दिया है. इन सभी वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि यदि भूमंडल के संरक्षण के लिए तत्काल कदम नहीं उठाए जाते हैं तो ‘अनकही पीड़ा’ सामने आएगी.

इन वैज्ञानिकों ने साफ तौर पर कहा है कि पर्यावरण को लेकर दुनिया को अब गंभीर कदम उठाने की जरूरत है. भारत और चीन जैसे देशों में बढ़ते प्रदूषण के बीच इन वैज्ञानिकों ने जलवायु आपातकाल की घोषणा ‘बायोसाइंस पत्रिका’ में एक शोध रिपोर्ट में प्रकाशित की है. इस पर हस्ताक्षर करने वाले वैज्ञानिकों ने लिखा है, ‘हमारा यह नैतिक दायित्व है कि हम किसी भी ऐसे संकट के बारे में स्पष्ट रूप से आगाह करें जिससे महान अस्तित्व पर खतरा मंडरा रहा हो.’

वैज्ञानिकों की इस अध्ययन का नेतृत्व करने वाले ओरेगॉन स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता विलियम रिपल और क्रिस्टोफर वुल्फ लिखते हैं, ‘वैश्विक जलवायु वार्ता के 40 वर्षों के बाद भी हमने अपना कारोबार उसी तरह से जारी रखा है और इस विकट स्थिति को दूर करने में विफल रहे हैं. जलवायु संकट आ गया है और हमारी उम्मीदों से कहीं अधिक तेजी से यह बढ़ रहा है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here